PM Swamitva Yojana sanvadata
PM Swamitva Yojana sanvadata
Advertisement

देश मे आज भी ऐसे बहुत से ग्रामीण क्षेत्र है जहा पर लोगों को जमीन का मालिक होने के बावजूद भी उन्हे उसका कानूनी मालिकाना हक नहीं मिल पा रहा है।न ही उनकी जमीन का रिकॉर्ड सरकारी आंकड़ों मे दर्ज है। जिसके कारण लोगों को जमीन का मालिकाना हक प्राप्त करने मे काफी समस्या हो रही है।

लोगों की इसी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने पीएम स्वामित्व योजना की शुरुआत की है। जिसके बारे मे हम आपको इस लेख मे पूरी जानकारी देने वाले है इसलिए इस लेख को अंत तक पढे। इस लेख मे हम आपको बताने वाले है। कि पीएम स्वामित्व योजना क्या है। PM Swamitva Yojana Kya Hai लोगों को इस योजना का लाभ किस प्रकार मिलेगा।

Advertisement

योजना का विवरण

योजना का नाम पीएम स्वामित्व योजना
विभाग पंचायती राज मंत्रालय
घोषणा पीएम मोदी द्वारा 24 अप्रैल 2020
योजना का उदेश्य लोगों को उनकी जमीन का मालिकाना हक दिलाना

PM Swamitva Yojana 2022

पीएम स्वामित्व स्कीम की शुरुआत 24 अप्रैल 2020 मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा की गई थी। इस योजना को शुरू करने का उदेश्य सामाजिक आर्थिक सशक्तिकरण और ग्रामीण क्षेत्र को बढ़ावा देना ताकि ग्रामीण क्षेत्र के लोग आत्मनिर्भर देश भारत अभियान मे अपना योगदान दे सके। इस योजना के जरिए मानचित्रण और सर्वेक्षण की डिजिटल तकनीक का इस्तेमाल करके ग्रामीण क्षेत्रों मे सुधार करना है।

कई लोगों के साथ यह समस्या रहती है कि जमीन तो उनकी होती है लेकिन उनके पास उस जमीन से जुड़ा हुआ कोई दस्तावेज रिकॉर्ड नहीं होता है या उस जमीन का रिकॉर्ड सरकारी आंकड़ों मे दर्ज नहीं होता है जिसके कारण लोगों को दर रहता है कि कही दूसरे लोग उनकी जमीन को अपना बताकर उनसे छीन न ले। और उन्हे जमीन के बिना रहना पड़े। पीएम स्वामित्व योजना ऐसे लोगों को उनका मालिकाना हक दिलाने मे मदद करती है।

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत उन लोगों को जमीन का मालिकाना हक मिलेगा जो लोग जमीन का मालिक होने के बावजूद भी सरकारी आंकड़ों मे जमीन के मालिक नहीं थे। ऐसे मे ग्रामीण क्षेत्र के लोग इस योजना के जरिए अपनी जमीन का मालिकाना हक प्राप्त कर सकते है। जमीन का मालिकाना हक मिलने के बाद जमीन का रिकॉर्ड सरकारी आंकड़ों मे भी दर्ज हो जाएगा।

गांवों में कैसे मिलेंगे जमीन के कागजात

ग्रामीण क्षेत्र मे रहने वाले लोगों को जमीन के प्रॉपर्टी कार्ड लेने के लिए आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी। सरकार मैपिंग के माध्यम से सर्वे के जरिए अपना काम पूरा करेगी। उसी मे माध्यम से लोगों को अपनी जमीन का प्रॉपर्टी कार्ड मिलता जाएगा। जिन लोगों के पास अपनी प्रॉपर्टी के दस्तावेज मौजूद है वे उन दस्तावेजों की फोटोकॉपी कराकर जमा करा सकते है।

इसे भी जरूर पढे :- नेशनल डिजिटल हेल्थ कार्ड से जगह जगह मरीज की रिपोर्ट ले जाने की जरूरत नहीं होगी

जिन लोगों के पास अपनी जमीन के दस्तावेज नहीं है। उन्हे भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्हे भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्हे सरकार के द्वारा उनकी जमीन का घरोनी नाम का दस्तावेज बनाकर मुहैया कराया जायेगा। इस प्रकार जिन लोगों के पास खुद की जमीन के किसी प्रकार के दस्तावेज नहीं उनकी ये समस्या पूरी हो जायेगी।

योजना से ग्रामीणों को मिलेंगे ये लाभ

  • प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ( PM Swamitva Yojana ) के जरिए जिन लोगों के पास खुद की जमीन के किसी प्रकार के दस्तावेज नहीं है उन्हे दस्तावेज मिल जाएंगे। जिससे उन्हे मालिकाना हक मिल जायेगे।
  • इस योजना के जरिए जमीन का मालिकाना हक मिलने के बाद लोग अपनी जमीन का इस्तेमाल लोन लेने के लिए भी कर सकते है।
  • इस योजना के शुरू होने से देश के लगभग पाँच से छह लाख गावों को इसका लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के जरिए लोगों को दस्तावेज मिलने के बाद उन्हे अपनी जमीन का कानूनी सहारा भी मिल जायेगा।
  • प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के शुरू होने के बाद ऐसे लोगों को काफी फायदा होगा जिनके पास उनके जमीन का मालिकाना हक नहीं होने के बावजूद उन्हे डर रहता था कि काही दूसरे लोग उनके घर पर कब्जा न कर ले।

इसे भी जरूर पढे :- ग्रामीण क्षेत्रों मे रहने वाले लोगों को डिजिटल साक्षर बनाने के लिए केंद्र सरकार ने शुरू किया प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान

किन राज्यों मे लोगों का योजना लाभ मिलेगा।

महाराष्ट्र
कर्नाटक
हरियाणा
उत्तर प्रदेश
उत्तराखंड
मध्य प्रदेश
पंजाब राजस्थान

इसे भी जरूर पढे : इनोवेशन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने छात्रों के लिए शुरू किया मेंटर इंडिया अभियान

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

  • प्रधानमंत्री स्वामित्व में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको योजना की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • साइट ओपन होने के बाद आपको होमपेज की स्क्रीन पर न्यू रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • न्यू रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपकी स्क्रीन पर एक फार्म ओपन होगा। जिसमे आपको पूछी जाने वाले सभी प्रकार की जानकारी फिल करके सबमिट करनी होगी।
    फार्म सबमिट करने के बाद आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त होगा।

इसे भी जरूर पढे : – प्रधानमंत्री कुसुम योजना

प्रॉपर्टी कार्ड रिपोर्ट कैसे देखे

  • प्रॉपर्टी कार्ड देखने के लिए सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • साइट ओपन होने के बाद आपको स्क्रीन पर रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
    रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको प्रॉपर्टी कार्ड प्रिपेयर्ड के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • अब आपको अपने राज्य का चुनाव करके जिले और तहसील का चुनाव करना होगा। उसके बाद आपको अपना आवेदन नंबर फिल करना होगा।
    इस प्रकार आप अपना प्रॉपर्टी कार्ड आसानी से देख सकते है।

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

संवदाता लाता है आपके लिए वो सारी खबरे जो प्रमुख मीडिया मे नहीं दिखती है | संवदाता आपको केंद्र और राज्य सरकारों प्राधिकरण / बोर्ड / अधिकारियों द्वारा शुरू की गई विभिन्न योजनाओं के बारे में नवीनतम जानकारी दे रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here