UP Free Boring Scheme hindi
UP Free Boring Scheme hindi
Advertisement

किसानों को फसल उगाने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती हैं। तब जाकर सुंदर सी फसल उगती हैं। फसल की बुवाई करने के बाद समय के अनुसार अनेक स्टेप को फॉलो करना होता हैं। तब जाकर फसल उगती हैं। फसलों की पैदावार में सबसे अहम रोल सिंचाई का भी होता हैं। देश के ज्यादातर हिस्सों में , जहां की जमीनो में पानी नहीं हैं।

वहाँ के किसान फसलों की सिंचाई के लिए बारिश पर निर्भर रहते हैं। लेकिन जमीन के जिस हिस्सों में पानी हैं। वहाँ के किसान फसलों के सिंचाई के लिए बोरिंग की मदद लेते हैं। बोरिंग लगवाने के लिए किसानों को मोटी रकम खर्च करनी होती हैं।

Advertisement

देश के ज्यादातर किसान आर्थिक तंगी के कारण बोरिंग लगवाने में भी असमर्थ होते हैं। राज्य के गरीब किसानों को फसलों की सिंचाई के लिए किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो उस उसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने निःशुल्क बोरिंग योजना की शुरुआत की हैं। अगर आप उत्तर प्रदेश के किसान हैं तो आपको इस योजना के बारें में जरूर पता होना चाहिए। ताकि आप इसका लाभ लें सको।

इस योजना के बारें में विस्तार से जानने के लिए लेख को पूरा पढ़ें। इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि निःशुल्क बोरिंग योजना क्या हैं। उत्तर प्रदेश के किसान योजना का लाभ किस प्रकार लें सकते हैं।

योजना का विवरण

योजना का नाम निःशुल्क बोरिंग योजना
आरम्भ की गई उत्तर प्रदेश सरकार विभाग द्वारा
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के किसान
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
उद्देश्य निशुल्क बोरिंग की सुविधा उपलब्ध करवाना
श्रेणी उत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं

उत्तर प्रदेश सरकार के अपने राज्य के किसानों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाये प्रदान करने के लिए समय समय पर अलग अलग प्रकार की योजनाए लाती रहती हैं।

इन योजनाओ का उदेश्य राज्य के किसानों की मदद करना हैं। ताकि राज्य के किसान देश एक लिए अच्छी फसल उगा सकें। राज्य में फसलों की सिंचाई की समस्या को देखते हुए अब सरकार ने निःशुल्क बोरिंग योजना की शुरुआत की हैं। इस योजना के शुरू होने से किसान अब फसलों की सिंचाई तय समय पर कर पाएंगे। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए यंहा पर क्लिक करे |

निःशुल्क बोरिंग योजना UP Free Boring Scheme

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के छोटे और आर्थिक रूप स कमजोर किसानों को सहायता प्रदान के लिए निःशुल्क बोरिंग योजना की शुरुआत की हैं। योजना का उदेश्य सीधे उन किसानों को लाभ पहुचाना हैं। जो किसान आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण फसलों की सिंचाई समय पर नहीं कर पाते हैं जिसके कारण उन्हे फसले खराब हो जाती हैं। ऐसे किसानों को सरकार फसलों की सिंचाई करने के लिए फ्री बोरिंग की सुविधा दें रही हैं।

Pradesh Nishulk Boring Yojana शुरू होने से राज्य के किसानों को फसलों को तैयार करने में काफी मदद मिलेगी। फसलों की पैदावार अच्छी होगी। जिसके कारण किसानों की आय पहले की तुलना में बढ़ेगी। और किसानों के जीवन स्तर में सुधार आयेगा। इसे भी पढे :- प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना क्या है

सामान्य वर्ग के केवल वही किसान भी फ्री बोरिंग योजना का लाभ लें सकते हैं जिनके पास केवल 2 हेक्टेयर कृषि भूमि ही हैं। जबकि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के सभी किसानों को इसका लाभ मिलेगा। योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर्ता को जरूरी दस्तावेज के साथ आवेदन करना होगा।

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना से जुड़ी हुई महत्वपूर्ण बिन्दु

  1. किसान केवल उसी जगह पर फ्री बोरिंग योजना के तहत बोरिंग लगवा सकते हैं। जहां पर खेत हो
  2. बोरिंग के समय इस बात का भी ध्यान रखा जायेगा की एक बोरिंग से कम से कम 3 हेक्टेयर कृषि भूमि की सिंचाई हो सके।
    यूपी फ्री बोरिंग योजना के तहत राज्य के छोटे किसानों को 5,000 रूपये अनुदान दिया जायेगा।
    योजना के तहत राज्य के सीमान्त किसानों को 7,000 रूपये अनुदान दिया जाएगा।
  3. Nishulk Boring Yojana के तहत उत्तर प्रदेश के एससी/एसटी वर्ग के लाभार्थी किसानों को 10,000 रूपये अनुदान दिए जाएगा। इसे भी पढे : मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना क्या है ?

UP Nishulk Boring Yojana 2022 के तहत पात्रता और जरूरी दस्तावेज

  • इस योजना का लाभ केवल उन्ही किसानों को मिलेगा जो उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी हैं। वर्षों से उत्तर प्रदेश में रह रहे हैं।
  • योजना के पात्र किसानों को योजना का लाभ केवल एक ही बार मिलेगा।
  • Nishulk Boring Yojana 2022 के तहत जनरल , अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के किसान आवेदन कर सकते हैं।
  • लाभार्थी किसान का आधार कार्ड / पहचान पत्र / राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साइज फोटो
  • निवास प्रमाण पत्र

निःशुल्क बोरिंग योजना 2022 के तहत आवेदन कैसे करें।

  1. यदि आप उत्तर प्रदेश का कोई भी किसान जो योजना का पात्र हैं। इस योजना का लाभ लेना चाहता हैं। वे नीचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करके आवेदन कर सकते हैं।
  2. उत्तर प्रदेश की निःशुल्क बोरिंग योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश की लघु सिंचाई विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  3. सबसे पहले आपको लघु सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा। http://minorirrigationup.gov.in/Index-hi.aspx
  4. वेबसाइट ओपन होने के बाद आपकी स्क्रीन पर किसान से जुड़ी अनेक योजनाओ के विकल्प दिखाई देंगे। यहाँ पर आपको निःशुल्क बोरिंग योजना के विकल्प पर क्लिक करना हैं।
  5. अब आपको आवेदन पत्र के विकल्प पर क्लिक करके आवेदन पत्र की पीडीएफ कॉपी डाउनलोड करनी हैं। इसे भी जरूर पढे :- किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है |
  6. अब पीडीएफ का प्रिन्ट आउट निकालकर उसमें लाभार्थी से जुड़ी हुई पूछी जाने वाली सभी प्रकार की जानकारी फिल हैं। जैसे की लाभार्थी का नाम , पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी,
  7. सभी जानकारी फिल करने के बाद लाभार्थी से जुड़े हुए सभी जरूरी दस्तावेज को अटैच करके इस फार्म को अपने नजदीकी लघु सिंचाई विभाग में जमा कर दें।
  8. इस प्रकार कोई भी किसान UP Nishulk Boring Yojana में आवेदन कर सकता हैं। खेतों मे कीटनाशन दवाइयों का छिड़काव करने के लिए प्रधानमंत्री ने शुरू की पीएम किसान ड्रोन

Contact US

कार्यालय का पता- मुख्य अभियंता, लघु सिंचाई विभाग, तृतीय तल, उत्तर विंग, जवाहर भवन, लखनऊ 226001
फोन नं० : 2286627 / 2286601 / 2286670
फैक्स : 2286932
ईमेल : milu-up@nic.in

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here