PM Kusum Yojana
PM Kusum Yojana
Advertisement

भारत में कृषि को मानसून का जुआ कहा जाता है | भारत में बहुत सारी ऐसी जगहें है, जहां प्राकृतिक रूप से पानी की कमी है | ऐसे स्थानों पर कृषि सिंचाई के लिए यहाँ नहरों, कुओं, तालाबों आदि पर निर्भर होती है | जो बारिश पर निर्भर करते है | ऐसे में इन जगहों पर डीजल इंजन चालित या विधयुत चालित ट्यूबवेल ही पूरे साल सिंचाई के भरोसेमंद साधन है |

लेकिन इनकी वजह से किसानों को डीजल के लिए अतिरिक्त व्यय करना पड़ता है, और अगर वे विद्युत से चलने वाले ट्यूबवेल से सिंचाई करते है तो उन्हे बिजली पर निर्भर रहना पड़ता है | ऐसे में किसानों के लिए कुसुम योजना शुरू की गई है जिसमें किसानों को उनकी जमीन पर सोलर पैनल लगा सकते है | जो उनकी बिजली की जरूरतों को पूरा करेगा |

Advertisement

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की आधिकारिक जानकारी

योजना का नाम प्रधानमंत्री कुसुम योजना
आरंभ की तिथिजुलाई 2019
संचालनकर्ताकेंद्र सरकार
उद्देश्यकिसानों को सोलर पैनल लगाने में सहायता करना ताकि वो
अपने लिए बिजली उत्पन्न कर कृषि कार्यों के लिए इस्तेमाल कर सके
लाभार्थीदेश के किसान

प्रधानमंत्री कुसुम योजना PM Kusum Yojana 2022

प्रधानमंत्री कुसुम योजना PM Kusum Yojana को केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया | इस योजना में किसान सरकार की सहायता से अपनी जमीन पर सोलर पैनल लगा सकते है | और इससे बनने वाली बिजली का उपयोग अपने कृषि कार्यों के लिए कर सकते है | अगर वे अपनी उपयोग से अतिरिक्त विद्युत उत्पन्न करते है तो वे उसे DISCOM को बेचकर अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते है | इसमे सोलर पैनल लगाने के लिए सरकार 90% तक अनुदान देती है बाकी की 10% राशि कृषक को देनी होती है |

प्रधानमंत्री कुसुम योजना को लागू करने का उद्देश्य

भारत में कृषि सदा से ही बारिश पर निर्भर करती है | यदि बारिश अच्छी हुई तो ठीक नहीं तो फसलों का नुकसान | इन्हीं सब से बचने के लिए प्रधानमंत्री कुसुम योजना को लागू किया गया | ताकि इसके द्वारा किसान सोलर पैनल लगाकर अपने खेतों की सिंचाई कर सके |

इसे भी पढे :- किसान सूर्योदय योजना’ क्या है |

किसान इसमें अपनी जमीन पर सोलर पैनल लगाकर इससे पैदा हुई बिजली का उपयोग खेती के कामों में कर सकते है साथ ही वो अतिरिक्त बिजली को डिस्कॉम को बेचकर अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते है | इसके अलावा ये अक्षय ऊर्जा के प्रयोग को प्रोत्साहन देगा साथ ही इससे पर्यावरण को होने वाला नुकसान भी कम होगा |

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लक्ष्य एवं उनकी लागत

कुसुम योजना के तहत प्रयास किए जा रहे है, कि साल 2022 तक देश में तीन करोड़ सिंचाई पंप विद्युत या डीजल इंजन की बजाए सौर ऊर्जा से चले | जिन जगहों पर विद्युत ग्रिड नहीं है वहाँ सरकार किसानों को 17.5 लाख सोलर पंप सेट देगी | और जिन इलाकों में विद्युत ग्रिड उपलब्ध है वहाँ किसानों को 10 लाख सोलर पंप सेट दिए जायेगे |

इस योजन के बारे मे भी जानकारी प्राप्त करे | ऑपरेशन ग्रीन्स मिशन क्या है ?

इसको संभव बनाने के लिए 1.40 लाख करोड़ रुपए लगेंगे| इनमें से 48 हजार करोड़ रुपए केंद्र के जिम्मे होंगे जबकि इतनी ही राशि राज्य सरकारों को देनी होगी | किसानों से सोलर पैनल की कुल लागत का 10% ही लिया जाएगा जबकि बाकी की राशि का इंतेजाम बैंकों से लोन लेकर किया जाएगा |

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के फायदे क्या है ?

  • प्रधानमंत्री कुसुम योजना PM Kusum Yojana से सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा का इस्तेमाल होने के कारण बिजली की बहुत बचत होगी |

इसे भी पढे :- किसान सम्मान निधि क्या है |

  • इस योजना से केवल बिजली बचत ही नहीं होगी बल्कि 28 हजार मेगावाट अतिरिक्त बिजली का भी उत्पादन संभव होगा |
  • कुसुम योजना के द्वारा किसान न सिर्फ अपने लिए बिजली उत्पन्न करेंगे बल्कि अतिरिक्त बिजली को डिस्कॉम कंपनियों को बचकर अगले 25 वर्ष तक अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते है |
  • किसान अपनी बंजर जमीन पर सोलर पैनल लगाकर उसे आय के साधन में बदल सकते है |
  • ये योजना पर्यावरण को हो वाले नुकसान को कम करेगी | क्योंकि इसके कारण जैविक ईंधनों का प्रयोग कम होगा |

कुसुम योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज़

प्रधानमंत्री कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए जिन जिन कागजातों की जरूरत होगी उनके नाम नीचे है

इसे भी पढे :- प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना क्या है

  • आवेदक की पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो
  • आधार कार्ड
  • बैंक खाते की पासबुक
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाईल नंबर

प्रधानमंत्री कुसुम योजना में आवेदन कैसे करें?

कुसुम योजना PM Kusum Yojana में आवेदन करने के लिए इस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा | या फिर नजदीकी ग्राहक सेवा केंद्र पर जाकर आप इसमें आवेदन कर सकते है |

जानिए तीन कृषि बिलों के बारे मे पूरी जानकारी

अब अंत में योजना से जुड़े कुछ सवाल

कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को कितनी राशि देनी होगी ?
इस योजना के तहत किसानों को सोलर पम्प को लागत का केवल 10% ही देना होगा |

क्या किसानों के अलावा कोई और भी कुसुम योजना का लाभ ले सकता है?
नहीं, केवल कृषक ही इस योजना का लाभ लेने के पात्र होंगे |

कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लगवाने के लिए सरकार कितनी सब्सिडी दे रही है?
कुसुम योजना के तहत सरकार सोलर पंप लगवाने के लिए 90% तक सब्सिडी देती है |

ये लेख यहीं समाप्त होता है अगर अच्छा लगा तो शेयर जरूर करें और अगर आपके पास कुछ सुझाव है हमारे लिए तो कमेंट अवश्य करें |

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here