Operation Green Yojana Hindi
Operation Green Yojana Hindi
Advertisement

किसानों को ज्यादा से ज्यादा लाभ देने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। ऐसे मे सब्जी उगाने वाले किसानों के लिए सरकार ने एक बेहतर योजना बनाई है, उसी के बारे मे हम आपको इस लेख मे संपूर्ण जानकारी देने वाले है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके। इस लेख मे हम आपको बताने वाले है कि आपरेशन ग्रीन योजना क्या है। इस योजना से किसानों को किस प्रकार फायदा मिलेगा।

Table of Contents

Advertisement

योजना का विवरण

योजना का नाम आपरेशन ग्रीन योजना
कब शुरू की गई 2018
किसके द्वारा लांच की गईवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
योजना विभाग खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय
योजना का उद्देश्य किसानों को लाभ पहुँचाना और कृषि बाजार क्षेत्र को बढ़ावा

करोना काल मे किसानों को ज्यादा से ज्यादा राहत पहुँचाने के लिए सरकार ने आपरेशन ग्रीन योजना की शुरुआत की थी। इस योजना का उद्देश्य किसानों को उन फ़सलों की पैदावार पर लाभ पहुँचाना है जो जल्दी खराब हो जाती है। पहले इस योजना मे केवल तीन फ़सलों को ही जोड़ा गया था, लेकिन अब सरकार ने इस योजना का दायरा बढ़ाने के लिए इसमे 22 फ़सलों को और जोड़ा है।

ऑपरेशन ग्रीन योजना क्या है ? Operation Green Yojana Hindi 2022

ऑपरेशन ग्रीन योजना मे पहले केवल तीन सब्ज़ियाँ आलू , प्याज और टमाटर को ही जोड़ा गया था। लेकिन इस योजना की सफलता को देखते हुए सरकार ने इसी योजना मे 22 फसलों को और जोड़ा है, यानि कि अब इस योजना के माध्यम से किसान 25 फसलों को आसानी से बेच सकते है वो भी अच्छे रेटों पर।

किसानों को फल व सब्जियों के सही दाम दिलाने के लिए सरकार ने 500 करोड़ का प्रावधान किया गया है। इस योजना मे केवल उन्ही फसलों को जोड़ा गया है जो जल्दी खराब हो जाती है। इसलिए फसलों के खराब होने से पहले ही किसानों को फसलों की अच्छा केंट मिल जाए। इस योजना से केवल किसानों को ही नही ग्राहकों को भी लाभ मिलेगा।

सरकार ने इस योजना के माध्यम से किसानों को सीधा ग्राहकों से जोड़ दिया है। इस योजना मे सरकार एफपीओ, मार्केटिंग फेडरेशन, स्वयं सहायता समूह और फूड प्रोसेसिंग कंपनियों को अनुदान देती है।

ऑपरेशन ग्रीन में शामिल होने वाले फल एवं सब्जी

फल सब्जी
टमाटरआम
प्याजअनार,
आलू केला
गाजरखट्टे फल
राजमाअमरूद
शिमला मिर्चकीवी
बैगनपपीता
फूलगोभीलीची
भिन्डीअनन्‍नास
कटहल
करेला
गोभी
हरी मिर्च

इसे भी जरूर पढे : मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना क्या है ?


ऑपरेशन ग्रीन के लाभ

  • इस योजना को शुरू करना उद्देश्य किसानों की आर्थिक स्तिथि मे सुधार करना है।
  • ऑपरेशन ग्रीन के माध्यम से किसानों को उनकी फ़सलों की सही कीमत दिलवाना है ताकि किसानों को अपनी फ़सलों को कम दामों मे न बेचना पड़े।
  • ऑपरेशन ग्रीन योजना को शुरु करने का उद्देश्य यह भी है , सरकार चाहती है कि 2022 तक किसानों की आय बढ़कर उन्हे ज्यादा से ज्यादा लाभ प्रदान कर सके।
  • ऑपरेशन ग्रीन योजना के माध्यम से टमाटर, प्याज व आलू के अलावा सभी फल व सब्जियों के अधिक से अधिक उत्पादन करने पर बाजारों में परिवहन के माध्यम से भेजने पर कुल लागत का 50 फीसदी अनुदान के रूप में किसानों को दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से उन किसानों को भी लाभ मिलेगा जो अपने फल सब्जियों को स्टोर करे के लिए कोल्ड स्टोर या वेयर हाउस मे रखते है | ऐसे किसानों के लिए स्टोर शुल्क की कुल लागत का 50 फीसदी अनुदान की व्यवस्था की गई है।
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत केंद्र सरकार के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा
  • आपरेशन ग्रीन योजना शुरू की गई है जिसके अंतर्गत फसलों की पैदावार करने वाले किसानों को फल एवं सब्जियों का उचित दाम दिलाने के लिए 500 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

इसे भी पढे :- प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना क्या है

ऑपरेशन ग्रीन योजना के लाभार्थी |

  • खाद्य प्रसंस्करणकर्ता,
  • एफपीओ,
  • सहकारी समितियां,
  • व्यक्तिगत किसान,
  • लाइसेंस-धारी कमीशन एजेंट,
  • फ़सलों के निर्यातक,
  • राज्य विपणन संघ व
  • प्रोसेसिंग एवं विपणन के फुटकर व्यवसायी

देश मे पैदावार के आकडे

  • पैदावार के आकड़ों के अनुसार देश के जिलों मे 6 हजार हेक्टेयर जमीन मे 1.20 लाख टन सब्जियों की पैदावार होती है |
  • तीन हजार हेक्टेयर में 63 हजार टन आलू के उत्पादन का अनुमान है।
  • तीन हजार हेक्टेयर में 36 हजार टन बागवानी का उत्पादन का अनुमान है।
  • 12 हजार हेक्टेयर में 2.19 लाख टन सब्जी एवं बाग़वानी के उत्पादन होने का अनुमान है।

इसे भी जरूर पढे : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए यंहा पर क्लिक करे

आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • आवेदक किसान के पास अपने निवास स्थान का प्रूफ भी देना अनिवार्य होगा, जिसके लिए वे बिजली का बिल, वोटर आईडी कार्ड या पासपोर्ट जमा कर सकते है।
  • आवेदक किसान के पास खुद का पैन कार्ड भी होना चाहिए।
  • आवेदन के समय को आवेदक को अपना एक मोबाईल नंबर भी अपडेट कराना होगा क्योंकि आवेदन की सारी जानकारी आपको मेसेज के द्वारा द्वारा समय समय पर मिलती रहेगी।

इसे भी जरूर पढे : प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का फायदा कैसे उठाए

ऑपरेशन ग्रीन योजना में आवेदन कैसे करे |

  • अगर कोई भी किसान इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करना चाहता है तो उसे खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय की ऑफिसियल वेबसाइट्स पर विजिट करना होगा।
  • वेबसाइट्स ओपन होने के बाद आपको ऑपरेशन ग्रीन के तहत सब्सिडी के आवेदन के लिए फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस फार्म मे आवेदक से जुड़ी कुछ जरूरी जानकारी पूछी जाएगी जिसे आपको सही तरीके से भरना होगा।
  • फार्म सही तरीके से भरने के बाद अब आप उस फॉर्म को सबमिट कर दे।
  • फॉर्म एक्सेप्ट हो जाने के बाद किसानों की सब्सिडी का पैसा सीधे बैंक अकाउंट में आ जाएगा।

इसे भी पढे : – गरीब कल्याण रोजगार अभियान क्या है ?

निष्कर्ष

इस लेख मे हमने आपको केंद्र सरकार द्वारा किसानों को अधिक से अधिक लाभ पहुँचाने के लिए शुरू की गई योजना के बारे मे संपूर्ण जानकारी दी है ताकि देश के किसान को अच्छा लाभ मिल सके।

इसे भी जरूर पढे : जानिए तीन कृषि बिलों के बारे मे पूरी जानकारी

इस लेख मे हमने आपको बताया है कि ऑपरेशन ग्रीन योजना क्या है ,Operation Green Yojana kya hai Hindi ऑपरेशन ग्रीन योजना Operation Green Yojana Hindi के क्या फायदे है।

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है, तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है और जानकारी को दूसरे लोगों के साथ भी शेयर करे, ताकि उन्हे भी इस योजना का लाभ मिल सके।

अगर इस योजना को लेकर अपका किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेन्ट मे पूछ सकते है। अगर आप देश से जुड़ी किसी भी प्रकार की योजना के बारे मे जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप हमे कमेन्ट करके उस योजना का नाम बता सकते है। धन्यवाद

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here