Advertisement

अभी हमारा देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है जिसके कारण ज़्यादातर लोगों के पास रोजगार की कमी है। ऐसे मे लोगों को अपना घर का खर्च चलाने मे काफी समस्या हो रही है। देशवासियों की इसी समस्या को देखते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा गरीबों को राशन देने के लिए एक नई योजना की शुरुआत की गई।

इसकी पूरी जानकारी को हम आपको इस लेख मे देने वाले है। इसलिए लेख मे अंत तक पढे यह आपके काफी काम आ सकता है इस योजन नाम है मुफ़्त राशन योजना Muft Ration Yojana

Advertisement

योजना का विवरण

योजना का नाम  मुफ़्त राशन योजना 
किसके द्वारा शुरू की गई नरेंद्र मोदी जी 
कब शुरू की गई 7 जून 2021 

मुफ़्त राशन योजना  2022

मुफ़्त राशन योजना Muft Ration Yojana की शुरुआत 7 जून 2021 को देश के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा की गई थी। जिसका एक मात्र उद्देश देश के उन लोगों को भोजन का राशन मूहिया कराना है जिन्हे कोरोना काल मे अपने घर का खर्च चलाने मे काफी परेशानी हो रही है। सरकार ने पिछले वर्ष 2020 मे भी अप्रैल से नवंबर महीने तक यानि कि लगभग 10 महीने तक प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना  के तहत  देश के गरीब लोगों के बीच मे मुफ़्त राशन  बांटा था।

लेकिन देश के जब लॉकडाउन धीरे धीरे खुलने लगा था तो लोगों को रोजगार मिलने लगे थे, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर ने फिर से लोगों की कमर तोड़ दी है, यही कारण है कि सरकार ने फिर से देश के लगभग 80 करोड़ लोगों को मई से नवंबर माह तक मुफ़्त राशन योजना के तहत राशन ,मिलता रहेगा।

बुधवार को ही पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट ने मुफ्त राशन स्कीम को जुलाई से नवंबर यानी पांच महीने तक बढ़ाने का अप्रूवल भी दे दिया है। वहीं लाभार्थियों की संख्या भी अब 80 करोड़ से बढ़कर 81.35 करोड़ हो गई है।

मुफ़्त राशन योजना के तहत आने वाले राज्य 

सरकारी आंकड़ों के अनुसार मुफ़्त राशन योजना Muft Ration Yojana के तहत बांटे जाने वाले राशन की सबसे ज्यादा खपत उत्तर प्रदेश मे होने वाली है। इसका कारण है कि उत्तर प्रदेश जनसंख्या के हिसाब से देश का सबसे बड़ा राज्य है जहा की जनसंख्या लगभग 20 करोड़ से अधिक है और इस जनसंख्या के तकरीबन 75 प्रतिशत लोग इस योजना के दायरे मे आ रहे है जिन्हे इसका लाभ मिलने वाला है।

इसे भी पढे : – गरीब कल्याण रोजगार अभियान क्या है ?

इसके अलावा उत्तराखंड ( 61.94 लाख, ) ,  गोवा ( 5.32 लाख ), गुजरात ( 3.82 करोड़ )मणिपुर ( 24.67 लाख ), पंजाब ( 1.41 करोड़ ), हिमाचल प्रदेश ( 28.64 ) राज्यों मे भी आने वाले वर्ष 2022 मे चुनाव है | जिन्हे नवंबर माह तक मुफ़्त राशन योजना के तहत राशन मिलता रहेगा।  

इन्ही आंकड़ों के आधार पर केंद्र सरकार ने देश के 28 राज्यों और 8 केंद्र शशित प्रदेश यानि कि कुल 36 राज्यों की जनसंख्या के अनुमान के हिसाब से 80 करोड़ लोगों की संख्या निकली है, जिन्हे नवंबर माह सरकार की तरफ से मुफ़्त राशन दिया जायेगा।

इसे भी जरूर पढे :- कन्या सुमंगला योजना क्या है

ग्रामीण क्षेत्र के लिए क्राइटेरिया

  • Muft Ration Yojana के तहत ग्रामीण क्षेत्र के उन लोगों को मुफ़्त राशन मिलेगा  जो नीचे दी गई शर्तों के अंतर्गत आते है।
  • मुफ़्त राशन योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र के उन लोगों लोग मुफ़्त राशन दिया जायेगा जो परिवार बेघर हो हुके है और उनके ऊपर किसी का सहारा नहीं है।
  • सरकार ऐसे लोगों को भी मुफ़्त राशन योजना के तहत राशन प्रदान करेगी जिनका जीवन यापन हमेशा भिक्षा पर निर्भर रहता है।
  • ऐसी मजदूर जो किसी घटना की वजह से कैद मे थे लेकिन कानूनी रूप से रिहा हो गए है तो ऐसे मे उन लोगों को भी इस योजना के तहत मुफ़्त राशन दिया जायेगा।
  • ऐसे परिवार को भी इस योजना के तहत राशन मिलेगा जो सिर्फ एक कमरे के कच्चे मकान मे रहते है।
  • जिन परिवार मे कोई कमाने वाला नहीं है जिनके घरों मे बच्चे काम करके घर का खर्च चलाते है ऐसे परिवार को नवंबर माह तक मुफ़्त राशन दिया जायेगा।
  • ऐसा परिवार जिनमे कमाने वाला कोई युवा नहीं है और न ही उनके पास रोजी रोटी का कोई माध्यम है ऐसे लोगों की भी सरकार मदद करेगी।
  • ऐसा घर जिनका पूरा परिवार घर के किसी विकलांग सदस्य पर निर्भर हो ऐसे लोगों को भी मुफ़्त राशन योजना के तहत राशन दिया जायेगा।
  • ऐसा परिवार जो अपने घर का खर्च दिहाड़ी मजदूरी करके चलाते है सरकर ऐसे लोगों की भी मदद करेगी।
  • ऐसा परिवार जिसमे घर का जिम्मेदार सदस्य एक विधवा महिला हो तो उन्हे भी मुफ़्त राशन योजना के तहत राशन दिया जायेगा।

इसे भी जरूर पढे :- पीएम सुनिधि योजना क्या है

शहरी क्षेत्र के लिए ये क्राइटेरिया है

  • शहरों मे रहने वाले ऐसे लोग जिनके पास खुद के घर नहीं है और वे अपना जीवन यापन सड़क किनारे , फुटपाथ , फ्लाईओवर ब्रिज के नीचे मंदिरों के के पास , रेलवे स्टेशन इत्यादि जगहों पर रहकर बिताते है ऐसे लोगों को भी मुफ़्त राशन योजना के तहत राशन दिया जायेगा।
  • ऐसा परिवार जिनके घर बांस , घास और लकड़ी के छप्पर से बने हुए है उन परिवारों को भी इस योजना के तहत सरकार मुफ़्त राशन देकर मदद करेगी।
  • शहर के ऐसे परिवार जिनमे कोई कमाने वाला नहीं है और न ही उनके घरों मे किसी प्रकार से कमाने के साधन उपलब्ध है।  
  • दिहाड़ी मजदूरी करके अपने घर को चलाने परिवार को भी इस योजन के लाभ मिलेगा।
  • ऐसे परिवार जिनके घर मे कोई युवा या वयस्क कमाने वाला नही है जिनके परिवार बच्चों की आय पर निर्भर है ऐसे लोगों को भी इस योजन के तहत राशन मिलेगा।
  • ऐसा परिवार जो विकलांग पर आश्रित हो उन्हे भी इस योजना का लाभ मिलेगा।

आज जानते है की हम कैसे गरीब परिवार उज्ज्वला योजना का लाभ ले सकते हैं ?

जरूरत मंद बिना राशन कार्ड के राशन कैसे ले

  • अगर आपके पास किसी भी प्रकार का राशन कार्ड नहीं है और आप राशन के जरूरतमंद है तो सबसे पहले आपको अपने वार्ड क्षेत्र के कार्यालय मे जाकर राशन का फार्म लेना होगा।
  • इस फार्म मे आपको आवेदक परिवार से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी भरनी होगी.
  • फार्म भरने के बाद अब इस फार्म को कलेक्टर ऑफिस मे जमा कर दे।
  • कलेक्टर ऑफिस मे फार्म जमा करने के बाद आपको राशन लेने के लिए  एक स्थायी पर्ची दी जायेगी. 
  • इस पर्ची के आधार पर आप अपने नजदीकी राशन डीलर से राशन ले सकते है।  
  • राशन डीलर से राशन लेने से पहले आपको राशन बायोमेट्रिक प्रक्रिया से गुजरना होगा तभी आप राशन ले पायेंगे।   

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here