Pradhanmantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan
Pradhanmantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan
Advertisement

आज का समय डिजिटल टेक्नोलॉजी का है। लेकिन देश के अंदर आज भी ऐसे बहुत से लोग है। जिन्हे इंटरनेट और टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना सही तरीके से नहीं आता है। यही कारण है हमारा देश आज भी शिक्षा के क्षेत्र मे काफी पिछड़ा हुआ है।

देश मे टेक्नॉलजी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान नायक की एक नई योजना की शुरुआत की है जिसके माध्यम से लोगों को इंटरनेट और टेक्नोलॉजी का सही तरीके से इस्तेमाल करना सिखाया जायेगा।

Advertisement

इस लेख मे हम आपको इस योजना के बारे मे विस्तार से जानकर देने वाले है। इसलिए इस लेख को अंत तक पढे। इस लेख मे हम आपको बताने वाले है कि प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान क्या है। Pradhanmantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan Kya Hai

हमारे देश मे टेक्नोलॉजी और शिक्षा के अच्छे संसाधन होने के बावजूद भी शिक्षा के क्षेत्र मे काफी पिछड़ा हुआ है। जिसके कारण देश मे बेरोजगारी की दर लगातार बढ़ती जा रही है।

योजना का विवरण

योजना का नाम प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान
किसके द्वारा शुरू की गई केंद्र सरकार
ट्रेनिंग की अवधि 20 घंटे
ट्रेनिंग फीसशून्य
योजना का उदेश्य ग्रामीण क्षेत्र मे रहने वाले युवाओ को कंप्युटर और इंटरनेट की ट्रेनिंग प्रदान करना

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान Pradhanmantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की शुरुआत ग्रामीण क्षेत्रों रहने वाले उन सभी युवाओ के लिए की गई है। जिन्हे आज भी इंटरनेट कंप्यूटर का इस्तेमाल करना सही तरीके से नहीं आता है। ऐसे युवाओ को कंप्यूटर सम्बन्धी ट्रेनिंग प्रदान की जायेगी।

इस ट्रेनिंग मे युवाओ को कंप्युटर के बेसिक्स , इंटरनेट का इस्तेमाल करना , ईमेल भेजना व रिसीव करना , इंटरनेट की मदद से सरकार का सुविधाओ का लाभ लेने के लिए अप्लाई करना , किसी भी टोपिक के बारे मे इंटरनेट पर सही तरीके सर्च करना। ऑनलाइन पेमेंट करना , मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करना । कंप्युटर टाइपिंग करना।, बिजली बिल जमा करना , रेलवे , फ्लाइट टिकट बुकिंग करना इत्यादि

ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का उद्देश्य

इस योजना का उदेश्य देश के ग्रामीण क्षेत्रों मे रहने वाले युवाओ को कंप्युटर और इंटरनेट से जोड़ना है ताकि वे डिजिटल समय मे टेक्नोलॉजी का अच्छे तरीके से इस्तेमाल कर सके।
एक सर्वे के अनुसार देश के ग्रामीण क्षेत्रों मे आज भी मात्र 6 फीसदी घरों मे ही कंप्युटर मौजदू है। इन सभी को ध्यान मे रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश मे ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की शुरुआत की है।

इस अभियान का उदेश्य देश के ग्रामीण क्षेत्रों मे रहने युवाओ को डिजिटल टेक्नोलॉजी के प्रति जागरूक करके उन्हे आत्मनिर्भरऔर सशक्त बनाना है ताकि वे देश की तरक्की मे योगदान दे सके।

इसे भी पढे :- स्किल इंडिया क्या है विधार्थी इसका लाभ कैसे ले

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के लाभ

  • इस अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्र मे रहने वाली उन युवाओ को कंप्युटर और इंटरनेट की ट्रेनिंग प्रदान की जायेगी। जिनके घर मे किसी के पास भी इनकी जानकारी नहीं है।
  • इस अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्र मे रहने वाले युवाओ को दी जाने वाली ट्रेनिंग के लिए किसी भी प्रकार की कोई फीस नहीं ली जायेगी।
  • अगर किसी के घर मे किसी के पास भी कंप्युटर और इंटरनेट की जानकारी नहीं है तो उस परिवार का कोई भी सदस्य इसकी ट्रेनिंग ले सकता है।
  • इस योजना के तहत युवाओ को कंप्युटर के बेसिक्स और इंटरनेट को सही तरीके से इस्तेमाल करने के बारे मे जानकारी प्रदान की जायेगी।
  • इस योजना के तहत ट्रेनिंग लेकर ग्रामीण क्षेत्र मे रहने वाले नागरिक सरकारी की अलग अलग सुविधाओ , वित्तीय सेवाओ , स्वास्थ्य सेवाओ का लाभ ले सकेंगे।
  • स्कूल मे पढ़ने वाले छात्र जिनके स्कूलों मे कंप्युटर चलाना नहीं सिखाया जाता है। वे छात्र भी इस योजना के तहत ट्रेनिंग ले सकते है।
  • कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्र-छात्राएं जिनको डिजिटल साक्षरता नहीं है व उनके स्कूल में भी कंप्यूटर ट्रेनिंग की सुविधा उपलब्ध नहीं है। वे विधार्थी भी इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • इस योजना के तहत ट्रेनिंग देने के लिए एससी एसटी , अल्पसंख्यक और गरीबी रेखा से नीचे के स्तर के लोगों को प्राथमिकता दी जाती है।

इसे भी पढे :- सरकार अब देगी युवाओ को बिजनेस करने की ट्रेनिंग

पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षारता अभियान के लिए जरूरी दस्तावेज़

इस अभियान के तहत केवल भारतीय नागरिक ही आवेदन कर सकते है।

  • आवेदक की आयु 18 से 60 वर्ष एक बीच होनी चाहिए ।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

इसे भी पढे : – अब दीक्षा पोर्टल से ले फ्री अनलाइन पढ़ाई

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान में आवेदन कैसे करे?

  • इस योजना के तहत ट्रेनिंग लेने के लिए सबसे पहले आपको योजना की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन होने के बाद आपको होमपेज की स्क्रीन पर डायरेक्ट कंडीडेट का ऑप्शन दिखाई देगा। जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • डायरेक्ट कंडीडेट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर नए पेज पर एक लॉगिन फार्म ओपन होगा। इस फार्म के नीचे आपको रजिस्टर के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक आवेदन फार्म ओपन होगा जिसमे आपको आवेदनकर्ता से जुड़ी सभी जानकारी फिल करनी होगी। जैसे कि आवेदनकर्ता का नाम , आधार नंबर , जेंडर म जन्म तिथि , शिक्षा की जानकारी,
  • इन सभी जनकरी को फिल करने के बाद नीचे दिए गए add के बटन पर क्लिक करे।
  • अब आपको अगले अगले पेज पर केवाईसी करना होगा जिसके लिए आपके पास तीन ऑप्शन रहते है। पहला फिंगरप्रिंट स्कैन के द्वारा , दूसरा आँखों को स्कैन करके तीसरा मोबाइल फोन मे ओटीपी के द्वारा , आप इन तीनों मे किसी भी ऑप्शन का चुनाव कर सकते है।
  • अगर आप मोबाइल से करना चाहते है तो आपको अपना एक ऐसा नंबर देना होगा जिस पर ओटपी आ सके। उसके बाद आपको वैलिडेट ओटीपी’ पर क्लिक करके आगे बढ़ना होगा।
  • इस प्रकार आप आवेदन करने के बाद आप एक यूजर आईडी पासवर्ड जनरेट कर सकते है जिसकी मदद से आप पोर्टल पर अपना अकाउंट ओपन कर पाओगे।

इसे भी जरूर पढे : -डिजिटल इंडिया क्या है

पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का सर्टिफिकेट

इस अभियान के तहत ट्रेनिंग लेने के बाद आपको सर्टिफिकेट भी मिलता है। ट्रेनिंग होने के बाद सर्टिफिकेट मिलने से पहले आपको एक ऑनलाइन टेस्ट पास करना होता है। इस टेस्ट मे आपसे 25 सवालों के जवाब पूछे जाते है। जिनमे आपको कम से कम सात सवालों के सही जवाब देने होते है। उसके बाद ही उम्मीदवार को पास माना जाएगा। टेस्ट पास करने के बाद आप साइट से ही अपना सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते है।

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here