बीमा क्या है
बीमा क्या है
Advertisement

बीमा जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या से निपटने का सबसे बड़ा सहयोगी है जो हमारे जीवन की संमस्याओ से लड़ने में हमारी मदद करता है जैसे की बीमारी ,शादी का खर्च ,बिजनेस का डूब जाना इत्यादि,क्योकि किसी भी व्यक्ति को अपने बारे में ये नहीं पता होता की कल उसके साथ क्या होने वाला है।

इसलिए हम बीमा पॉलिसी के जरिये जीवन में होने वाले नुकसान की कुछ हद तक भरपाई कर सकते है| बीमा पॉलिसी का मतलब ही नुकसान से सुरक्षा करना है।

Advertisement

आज के समय में आप स्मार्टफोन, घर, गाडी, शादी, इत्यादि चीजों के टूटने खोने और खर्च करने के लिए बीमा पालिसी का फायदा ले सकते है | बीमा पॉलिसी कुछ नियम व् शर्तो के आधार पर आपको पॉलिसी की रकम चुकाती है| इससे पहले व्यक्ति द्वारा बीमा कम्पनी को एक निश्तित तय धनराशि प्रीमियम के रूप में जमा करनी होती है उसके बाद ही आप इस सुविधा का लाभ ले सकते है|

जीवन बीमा एक मुख्य उद्देश्य यह भी है परिवार में किसी कमाने वाले या किसी खास व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर यह पीड़ित परिवार को आर्थिक सुरक्षा भी प्रदान करता है। बहुत से लोगो को इसके बारे अधूरी जानकरी होती है इसलिए आज भी ज़्यदातर लोग बीमा पॉलिसी करवाने से डरते है कि कही उनका पैसा व्यर्थ न हो जाए जिसके कारण लोग इस  सुविधा का लाभ लेने से वंचित रह जाते है।

इस लेख में हम आपको बीमा पॉलिसी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है, कि जीवन बीमा क्या है Jeevan Bima Kya Hai इसका फायदा आपको किस प्रकार मिल सकता है। किसी भी व्यक्ति के जीवन में बीमा पॉलिसी का क्या महत्व है। अगर आप इन सभी चीजों के बारे जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को अंत तक पढे।

जीवन बीमा क्या है ? Jeevan Bima Kya Hai

जीवन बीमा Jeevan Bima किसी भी व्यक्ति के जीवन का होता है जिसका लाभ बीमा धारक की मृत्यु के पश्चात उसके परिवार को मिलता है, ताकि परिवार को घर चलने में किसी प्रकार की कोई समस्या न हो| या परिवार के सदस्य उस पैसे से कोई अच्छा सा काम शुरू कर सके। किसी भी व्यक्ति को भविष्य में अपने परिवार आर्थिक सुरक्षा को देखते हुए जीवन बीमा पॉलिसी जरूर लेनी चाहिए।

जीवन बीमा किसी भी बीमा धारक और बीमा कम्पनी के बीच एक लिखित अग्रीमेंट होता है जिसके आधार पर बीमा कम्पनी व्यक्ति की मृत्यु के पश्चात एक निर्धारित रकम बीमा धारक के परिवार को बीमा धारक के परिवार को आर्थिक सुरक्षा के रूप में प्रदान करती है।

किसी भी व्यक्ति के परिवार को यह आर्थिक सुरक्षा तभी मिल पाती है जब उसने या उसके परिवार पर एक निर्धारित प्रीमियम राशि जमा की हो| आज के समय में आप किसी भी व्यक्ति की गंभीर बीमारी या विकलांगता के आधार पर भी पॉलिसी में निवेश कर सकते है ताकि बीमारी का इलाज करवाया जा सके।

इसे भी जरूर पढे : होम लोन क्या है | होम लोन लेने के लिए आवेदन कैसे करे

साधारण बीमा Simple Policy

बीमा पॉलिसी को भी अलग अलग केटेगरी मे बांटा गया है जैसे कि व्हीकल बीमा, होम पॉलिसी, कृषि बीमा ,पशु बीमा, हेल्थ बीमा, यात्रा बीमा, बिजनेस बीमा इत्यादि

होम पॉलिसी Home Policy

अगर आप किसी बीमा कम्पनी से अपने घर का साधारण बीमा करवाते है तो आपके घर की सुरक्षा की जिम्मेदारी बीमा कम्पनी लेती है घर का बीमा करवाने के बाद अगर आपके घर में किसी भी प्रकार का कोई नुकसान होता है तो उसका हर्जाना आपको बीमा कम्पनी के द्वारा दिया जाता है आपको घर का नुकसान होने की किस किस कंडीशन में बीमा कम्पनी सहायता प्रदान करती है|

इसे भी जरूर पढे : कोटक महेन्द्रा बैंक से लोन कैसे ले जानिए सबसे आसान तरीका

भूकंप , बाढ़ , प्राकृतिक आपदा , किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से घर में चोरी हो जाना , घर में आग लग जाना , किसी प्रकार की लड़ाई दंगो की वजह से घर का नुक्सान हो जाना जो व्यक्ति अपने घर को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करना चाहता है उसे उसे होम इन्शुरन्स जरूर करवाना चाहिए।

व्हीकल बीमा Vehicle Policy

इस पॉलिसी का फायदा अक्सर ज्यादातर सड़को पर चलने वाले वहानो को होता है क्योकि अगर आप बिना इन्शुरन्स के गाडी रोड पर चलाए हो तो ट्रेफिक पुलिस आपकी गाडी का चालान कर सकती है। इसके आलावा सड़क पर चलते समय अगर आपकी गाडी को किसी भी प्रकार का कोई नुक्सान होता है तो आपको बीमा कम्पनी द्वारा क्लेम दिया जाता है जैसे की गाडी की चोरी हो जाना या गाडी के साथ कोई सड़क दुर्घटना हो जाना।

इसे भी जरूर पढे : किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ कैसे ले।

कृषि बीमा karshi policy

आज के समय को देखते हुआ सभी कृषि करने वाले प्रत्येक किसान को फसल बीमा जरूर करवाना चाहिए क्योकि आज के समय में कभी ज्यादा बारिश की वजह से फसले खराब हो जाती है तो कभी सूखा पड़ने की वजह से फसले ख़राब हो जाती है ऐसी स्थिति  में करवाया गया फसल बीमा आपकी मदद करता है जिसमे आपके नुक्सान की भरपाई बीमा कम्पनी के द्वारा की जाती है।

फसल बीमा के नियम व् शर्तो के आधार पर फसल में आग लगने , बाढ़ या किसी फसली बिमारी की वजह से ख़राब होने ,पर आपको बीमा कम्पनी द्वारा मुआवजा दिया जाता है| आपकी फसल का किसी भी प्रकार नुक्सान होने पर बीमा कम्पनी के लोगो द्वारा खेतो का सर्वे किया जाता है उसके बाद्द ही आपको कम्पनी मुआवजा प्रदान करती है अगर आपकी फसलों को नुक्सान आपकी किसी गलती की वजह से हुआ है तो ऐसी स्थिति में आपको मुआवजा नहीं मिल पाएगा।

इसे भी पढे :- सरकार अब देगी युवाओ को बिजनेस करने की ट्रेनिंग

हेल्थ बीमा Health Policy

आज के बदलते समय में लोगो के खाने पीने के तरीके बदल रहे है लोगो को ज्यादातर जंक फ़ूड पसंद पसंद आ रहे है जिसकी वजह से इस प्रकार के खाने से लोगो को स्वाद बहुत मिलता है लेकिन अंदर ही अंदर उनकी सेहत पर भी काफी असर होता है| जिसकी वजह से बाद में लोगो को बड़ी बड़ी बीमारिया भी होती है जिसका इलाज करवाना भी उनके बस में नहीं होता है ऐसे में आपको बड़ी बीमारियों से लड़ने में स्वास्थ्य बीमा आपकी मदद करता है |

इस बीमे को करवाने के बाद जब भी कोई पीड़ित बीमार होता है तो उसके इलाज का सारा खर्च बीमा कम्पनिया उठाती है किसी भी बीमारी में खर्च होने वाले पैसे की सीमा उसके पॉलिसी प्लान पर निर्भर करती है कि आप अपने इलाज के लिए कितने रूपये तक का प्लान लेते है |

एमएसएमई MSME बिज़नेस लोन क्या है आप इसका फायदा किस प्रकार उठा सकते है |

यात्रा बीमा Travel Policy

अगर आप नई नई जगहों पर घूमने के शौकीन है तो यह बीमा आपके लिए बहुत जरूरी है | जिसके द्वारा आप यात्रा के दौरान होने वाले नुकसान से बच सकते है जैसे की अगर आपको किसी यात्रा के दौरान घूमते हुए चोट लग जाती है या आपका समान खो जाता है तो ऐसी स्थिति में आपको बीमा कम्पनी यात्रा बीमा पॉलिसी के तहत क्लेम देती है यात्रा बीमा पालिसी क्लेम आपको यात्रा शुरू होने से लेकर यात्रा खत्म होने के बीच में होने वाले नुक्सान के अनुसार ही दिया जाता है | यात्रा बीमा पॉलिसी के नियम व् शर्ते अलग अलग बीमा कम्पनी के अलग अलग हो सकते है |

बिजनेस बीमा Business policy

बिजनेस बीमे का लाभ असल में कम्पनी के कार्य या किसी समान से ग्राहकों को होने वाले नुक्सान की भरपाई करने के एवज में कराया जाता है ताकि इस प्रकार के स्थिति में कम्पनी लगने वाले जुर्माने और कानूनी करवाई से बचा जा सके इस कार्य में होने वाले सभी खर्च बीमा कम्पनी द्वारा किये जाते है |

इसे भी पढे :- घर तक फाइबर योजना क्या है ?

जीवन बीमा के कुछ महत्वपूर्ण फायदे 

  • जीवन बीमा आपके लिए एक सुरक्षा कवच की तरह होता है जो आपकी मृत्यु के पश्चात आपके परिवार को दिया जाता है |
  • बीमे का लाभ घटना घटित होने के बाद ही मिलता है अगर आपने जीवन बीमा पॉलिसी कराई है तो इसका लाभ आपके परिवार को बीमा धारक के मरने के बाद ही दिया जाएगा |
  • बीमे का क्षेत्र लगातार बढ़ता जा रहा है पहले केवल इंसान की मृत्यु के बाद का बीमा , अग्नि बीमा समुंद्री बीमा ही होता था परन्तु आजकल व्यक्ति की शाररिक बीमारी से लेकर बिजनेस में होने वाले जोखिम से लेकर व्हीकल इत्यादि अलग अलग प्रकार  के बीमा चल रहे है जिनका फायदा बहुत से लोग उठा है |

भारत की कुछ प्रमुख जीवन बीमा कंपनियों की सूची

1. बजाज अलियांज लाईफ इंश्योरेंस

2. बिरला सनलाईफ लाईफ इंश्योरेंस

3. एचडीएफ़सी स्टैंडर्ड लाईफ इंश्योरेस

4. आईसीआईसीआई प्रुडेंशल लाईफ इंश्योरेंस

5. एक्साइड लाइफ इंश्योरेंस कं लिमिटेड

6. भारतीय जीवन बीमा निगम

7. मैक्स न्यूयार्क लाईफ इंश्योरेंस कं लिमिटेड

8. मेट लाईफ इंडिया इंश्योरेंस कं लिमिटेड

9. कोटक महिंद्रा ओल्ड म्यूचल लाईफ इंश्योरेंस लिमिटेड

10. एसबीआई लाईफ इंश्योरेंस कं लिमिटेड

11. टाटा एआईजी लाईफ इंश्योरेंस कं लिमिटेड

12. रिलायंस लाईफ इंश्योरेंस कं लिमिटेड

13. अविवा लाईफ इंश्योरेंस कं इंडिया प्रा. लिमिटेड

14. सहारा इंडिया लाईफ इंश्योरेंस

15. भारती एक्सा लाईफ इंश्योरेंस

16. फ्यूचर जनरालि लाईफ इंश्योरेंस

17. आईडीबीआई फोर्टीज़ लाईफ इंश्योरेंस

इन छह तरीको से हुई मृत्यु में जीवन बीमा का लाभ नहीं मिलता है 

  • अगर किसी बीमा धारक की हत्या हो जाये और उस हत्या में बीमाधारक के नॉमिनी का नाम हो या उस पर आरोप लगे हो ऐसे में नॉमिनी को जीवन बीमा क्लेम तब तक नहीं मिलेगा जब तक उसे हत्या के केस में क्लीन चिट न मिल जाये लेकिन अगर नॉमिनी ही बीमाधारक का हत्यारा पाया जाता है तो तो उसको बीमे का क्लेम नहीं पाएगा |
  • अगर बीमाधारक को ज्यादा खतरों से खेलने का शोक है और किसी खतरनाक स्टंट को करते हुई उसकी मौत हो जाती है तो ऐसे में बीमा कम्पनी  इस बीमा क्लेम को रिजेक्ट कर देगी खतरों के खेल जैसे की कार या बाइक से स्टंट या रेस लगाते हुए मृत्यु हो जाना , या फिर स्काई ड्राइविंग , पैरा ग्लाइडिंग , बंजी जम्पिंग |

इसे भी पढे :- प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना

  • अगर किसी भी  बीमा धारक की किसी भी प्रकार के नशे में ( जैसे की शराब या ड्रग्स  इत्यादि का  ओवरडोज ) लेने पर ड्राइव करते हुए दुर्घटना की  वजह से मृत्यु हो जाती है | तो ऐसी स्थिति में  बीमा कम्पनी बीमाधारक के नॉमिनी को बीमा क्लेम देने से इन कार कर देती है | ज्यादा नशा करने वालो को बीमा कम्पनी क्लेम जारी नहीं करती है|
  • अगर किसी व्यक्ति को बीमा करवाने से पहले कोई बड़ी बीमारी है और व्यक्ति बीमा करवाते समय कम्पनी को उस बीमारी की जानकरी नहीं देता है और उस बाद में बीमाधारक की मृत्यु उसी बीमारी की वजह से हो जाती है तो ऐसी स्थिति  में भी बीमा कम्पनी बीमा क्लेम को रिजेक्ट कर देती है |
  • इसके अलावा बीमा कम्पनी HIV और AIDS से हुई मृत्यु पर भी क्लेम नहीं देती|

इसे भी जरूर पढे :- डाकघर बचत योजना

  • अगर किसी बीमाधारक की मृत्यु किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से  हो जाती है तो ऐसी स्थिति में बीमा कम्पनी बीमा क्लेम देने से इनकार कर देती है जैसे कि भूकंप , सुनामी , बाढ़ ,आग चक्रवात | लकिन अगर कोई व्यक्ति पालिसी लेते समय कुछ इस तरह का प्लान लेता है तो ऐसे स्थिति में बीमाधारक को उसका क्लेम  दिया जाता है|

निष्कर्ष

दोस्तों इस लेख मे हमने आपको जीवन बीमा पॉलिसी Life Insurance Policy के बारे सम्पूर्ण जानकारी दी है कि इसका फायदा लोगों को किस प्रकार मिल सकता है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों इसका लाभ उठा सके | अगर आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आई है तो आप आपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है और इस जानकारी को दूसरे लोगों के साथ भी शेयर करे ताकि सभी को इसका लाभ मिल सके

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here