Pradhanmantri Fasal Bima Yojana
Pradhanmantri Fasal Bima Yojana
Advertisement

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhanmantri Fasal Bima Yojana ) की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वर्ष 2016 में शुरू की गई थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन किसानो की मदद करना है। जिनकी फसले किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा जैसे की बाढ़ ,ओला ,सूखा की वजह से नष्ट हो जाती है। ऐसी स्थिति में कभी कभी किसानो का इतना नुकसान हो जाता है कि कुछ किसान आत्महत्या तक भी कर लेते है।

इस तरह की घटनाये आजकल बहुत देखने को मिलती है इस प्रकार की घटनाओ को रोकने के लिए सरकार ने किसान फसल बीमा योजना की शुरुआत की है ताकि किसानो में आत्मविश्वास बना रहे और देश के लिए फसल उगाते रहे।

Advertisement

आज हम आपको इस लेख मे केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिए शुरू की गई योजना के बारे पूरी जानकारी देने वाले है, ताकि देश के सभी किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके इस लेख मे हम आपको बताने है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है | (Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Kya hai ) और किसान इस योजना लाभ कैसे ले सकते है अगर आप एक किसान है और इस योजना के बारे मे जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का विवरण

प्रधानमंत्री योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 
योजना विभाग मिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर एंड फार्मर्स वेलफेयर
लाभार्थी देश के किसान
योजना का उद्देश्यदेश के किसानों को सशक्त बनाना
सहायता राशि ₹200000 तक का बीमा
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार की योजना
आधिकारिक वेबसाइटप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
योजना का ट्विटर हेंडल PM Fasal Bima Yojana

2022 PM Fasal Bima Yojana

इस  किसान बीमा योजना का लाभ लेने के लिए किसानो को खरीफ की फसल ( धान या चावल, मक्का, ज्वार, बाजरा, गन्ना आदि ) के लिए 2 फीसदी और रबी की फसल (गेंहूँ, जौ, चना, मसूर, सरसों आदि) के लिए 1.5 फीसदी प्रीमियम जमा करना होगा तभी आप इस योजना का लाभ ले पाओगे। किसानो को इस योजना का लाभ देने के लिए सरकार द्वारा 8800 करोड़ रूपये खर्च किये जायँगे।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसानो को किसी भी प्राकृतिक आपदा की वजह से फसल नष्ट होने के एवज में क्लेम लेने के लिए प्रीमियम बहुत ही कम रखा गया है ताकि कोई भी किसान इस योजना का लाभ उठा सके। किसान फसल बीमा योजना द्वारा आप किसी भी प्रकार के बागवानी और वाणिज्यिक फसलों में भी  बीमा सुरक्षा का लाभ उठा सकते है, लेकिन इसके लिए आपको 5 फीसदी का प्रीमियम जमा करना होगा उसके बाद ही आप इसका लाभ ले पाओगे। भारत सरकार की इस योजना भारतीय कृषि बीमा कम्पनी (AIC ) द्वारा चलाया जाता है। 1

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana योजना का उद्देश्य

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन किसानो को सुरक्षा प्रदान करना है जिनकी फसले किसी भी प्राकृतिक आपदा जैसे की बाढ़ सूखा ओला बारिश ,कीड़े या किसी भी रोग की वजह से ख़राब हो जाती है  ऐसी स्थिति में सरकार सुरक्षा कवर के रूप में इस योजना का लाभ देती है।
  • इस योजना को शुरू करने के पीछे एक बड़ा कारण यह भी है की ताकि फसलों के नष्ट होने पर किसानो का खेतो के प्रति आत्मविश्वास बना रहे और उनकी खेती करने में भी रूचि बनी रहे ! और उन्हें एक निश्चित रोजगार मिलता रहे।
  • इस योजना के द्वारा सरकार किसानो को कृषि करने में आधुनिक पद्द्ति के संसाधनों  के प्रति जागरूक करना चाहती है ,ताकि नए नए संसाधनों द्वारा कम समय में अच्छी फसलों को तैयार किया जा सके।

इसे भी जरूर पढे : आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है , सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य क्या है

PM Fasal Bima Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज 

  •   किसान का कोई भी एक फोटो आईडी प्रूफ जैसे की पहचान पत्र , आधार कार्ड , पेन कार्ड , ड्राइविंग लाइसेंस पासपोर्ट और एक फोटो 
  • अगर खेत किसान के खुद के है तो खसरा नंबर या खाता नंबर साथ में रखे  
  • आपने खेत में किस फसल की बुवाई की हुई इसका सबूत होना अनिवार्य है 
  • इस प्रकार के सबूत के तौर पर किसान पटवारी, सरपंच, प्रधान जैसे लोगों से एक पत्र लिखवा ले सकते हैं. 
  • अगर आपके पास खेत स्वयं के नहीं है और आपने दूसरे के खेत किराए पर लेकर फसल की बुवाई की है तो ऐसे में आपके पास खेत मालिक के साथ हुए करार की फोटोकॉपी होना अनिवार्य है जिसमे खेतो का खसरा या खाता नंबर लिखा होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आप बैंक की उस शाखा में जाकर फॉर्म भर सकते है जिसमे आपका पहले से खाता हो या आप  इस वेबसाइट पर जाकर भी ऑनलाइन फॉर्म भरवा सकते  है | 2

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana मे आवेदन के लिए कुछ महत्वपूर्ण  बातें

  • इस योजना का लाभ हर वो किसान उठा सकता है जो खेती करता है चाहे खेत उसके हो या नहीं।
  • इस योजना लाभ लेने के लिए आपको फसल बोने के बाद 10 दिन के अंदर ही किसान फसल बीमा योजना का फॉर्म भरना होगा।
  • फसल कटने से अगर 14 दिन पहले भी आपकी फसल प्राकृतिक आपदा की वजह से नष्ट हो जाती  है तो तो आपको इस योजना के तहत क्लेम दिया जायगा।
  • ये बात जरूर ध्यान रखे कि आपको सरकार द्वारा क्लेम तभी दिया जाएगा जब आपकी फसल प्राकृतिक आपदा की वजह से नष्ट हुई हो स्वयं की गलती से नहीं जैसे की आग लगना चोरी हो जाना या सेंध लगना।
  • किसान फसल बीमा योजना को सफल बनाने के लिए सरकार अगले तीन सालो 8800 करोड़ रूपये खर्च करने वाली है जिसमे उसका लक्ष्य लगभग 50 % किसानो को कवर करने का है।
  • इस योजना का लाभ केवल वे किसान उठा  सकते है जो जिन्होंने पहले से किसी प्रकार की फसल बीमा योजना का लाभ न उठाया हो।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के 5 साल पूरे

  •  वर्तमान समय मे देश के अंदर अलग अलग प्रकार की तबाही आती रहती है जिसके कारण किसानों की खड़ी फसले पूरी पूरी बर्बाद हो जाती है जैसे कि आंधी , तूफान , बाढ़ ,बादल का फटना , तेज बारिश  इत्यादि ।
  • ऐसे मे उन किसानो की हालत बहुत ज्यादा खराब हो जाती है जो सिर्फ खेती पर ही निर्भर रहते है इन हालतों मे इनके पास इतना पैसा भी नहीं होता कि वे दोबारा से फसलों को बो सके इसी प्रकार की समस्याओं से किसानों को बचाने के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की थी। ये योजना भारतीय कृषि बीमा कंपनी के अंतर्गत कार्य करती है।
  • इस योजना तहत किसानों की फसल का इंश्योरेंस होने के बाद दिए जाने वाले प्रीमियम का अतिरिक्त खर्च राज्य सरकारों तथा  भारत सरकार द्वारा समान रूप से दिया जाता है देश के पूर्वोत्तर राज्यों में 90 फीसदी प्रीमियम भारत सरकार  द्वारा चुकाया जाता है | 
  • पीएम फसल योजना के तहत दी जाने वाली औसत राशि पहले से बढ़ाकर 40,700 रुपये कर दी  है, जबकि योजना शुरू होने के समय ये राशि 15,100 रुपये प्रति हेक्टेयर थी |
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना योजना में फसलों की बुवाई से पहले से लेकर कटाई के बाद तक के  फसल चक्र को जोड़ा गया है।  
  • इस योजना के तहत फसलों की बुवाई होने के बाद प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को भी शामिल किया गया है | जैसे कि बाढ़, बादल फटने , तेज बारिश , आंधी , तूफान इत्यादि 
  • कृषि मंत्रालय के अनुसार कोरोना काल मे देश मे लॉकडाउन होने के बाद भी लगभग 70 लाख से अधिक किसानों को फायदा मिला है | जिसमे लाभार्थी किसानों को लगभग 8741.30 करोड़ रुपये के भुगतान किए गए है । 3

योजना का फायदा कितने किसानों को मिला

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana को शुरू हुए लगभग 6  हो चुके है | कृषि मंत्रालय के द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार इस योजना मे प्रत्येक वर्ष लगभग 5.6 करोड़ लोगों के द्वारा आवेदन किए जाते है। अब तक इस योजना के तहत लगभग 95 हजार करोड़ रुपये के भुगतान  का दावा  किया जा रहा है।

देश के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ अब तक 5.7 करोड़ से ज्यादा लोग ले चुके है | इस योजना के तहत अब तक लगभग 15 हजार  करोड़ रुपए का बीमा हो चुका है जिनमे से 7 हजार करोड़ किसानों को क्लेम के रूप मे दिए जा चुके है | ((किसान आड़े तो हुकूमत को समझ मे आई बीमा कंपनियों की जालसाजी))

PM Fasal Bima Mobile Apps 

भारत सरकार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाने के लिए और उनके साथ लगातार जुड़े रहने के लिए अब पीएम फसल बीमा योजना की एंड्रॉयड एप्लीकेशन लांच की है। इस  ऐप किसानों को योजना से जुड़ी जानकारी सीधे मिलती रहेगी। इस मोबाइल ऐप को कोई भी यूजर गूगल प्ले स्टोर या योजना की ऑफिसियल वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते है।

अगर आपने अभी तक अपना खाता नहीं खुलवाया है तो प्रधानमंत्री जन धन योजना के द्वरा फ्री मे खुलवाए

हरियाणा में 30 फीसदी बढ़े लाभार्थी किसान

 प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना  हरियाणा के किसानों को सबसे ज्यादा पसंद आ रही है जिसके कारण सबसे ज्यादा लाभ भी हरियाणा के किसान ही ले रहे है इसका सबसे बड़ा कारण है कि हरियाणा पंजाब मे देश का सबसे बड़ा कर्षी कारोबार है यही कारण है , कि इस योजना मे प्रत्येक वर्ष हरियाणा की बड़ी संख्या तेजी से बढ़ रही है।

अगर पिछले तीन वर्षों की बात कि जाए तो इस योजन के तहत बीमा करवाने वाले किसानों की संख्या मे 30 फीसदी का बढ़ोत्तरी हुई है | योजना शुरू होने वाले पहले हरियाणा मे  5 लाख 98  हजा 300 किसानों  ने अपनी फसलों का बीमा कराया था जिसके एवज मे उन्हे  लगभग 570 करोड़ रुपये का  क्लेम  मिला था।


जिसके बाद धीरे धीरे योजना मे आवेदन करने वाले किसानों की संख्या मे तेजी से बढ़ोत्तरी देखने को मिली वर्ष 2018 मे हरियाणा मे तकरीबन 8 लाख किसान व 2019 मे तकरीबन 9 लाख किसानों ने  फसलों के लिए बीमा करवाया। किसानों को फसलों के कारण हुए नुकसान का क्लेम देने मे बीमा कॉम्पनीय भी पीछे नहीं रही

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से संबंधित कुछ कम्पनियाँ

सरकारी कम्पनियाँ

  • एग्रीकल्चर इन्स्योरेन्स कम्पनी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड
  • यूनाइटेड इन्स्योरेन्स कम्पनी ऑफ इंडिया लिमिटेड
  • नेशनल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • ओरियंटल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • न्यू इंडिया इन्स्योरेन्स कम्पनी लिंमिटेड

इसे भी पढे :- सरकार अब देगी युवाओ को बिजनेस करने की ट्रेनिंग

प्राइवेट लिमिटेड कम्पनियाँ

  • टाटा एआईजी जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • फ्यूचर जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • रिलायंस जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • एसबीआई जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • बजाज आलियांज जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • श्रीराम जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • भारती एक्सा जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • रॉयल सुंदरम जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
  • इफ्फो टोकियो जनरल इन्स्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड

निष्कर्ष

दोस्तों इस लेख मे हमने आपको केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिए शुरू की गई योजन के बारे मे बताया है, ताकि देश के ज्यादा से ज्यादा किसान इस योजना का लाभ उठा सके। इस लेख मे हमने आपको बताया है | कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है ? Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Kya Hai आप इस योजना का लाभ लेने के लिए किस प्रकार आवेदन कर सकते है।

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे भी बता सकते है और इस जानकारी को दूसरों के साथ भी शेयर करे ताकि दूसरे किसान भी इसका लाभ उठा सके। धन्यवाद

Reference Article:
  1. फसल बीमा योजना के प्रीमियम पर सब्सिडी समय से जारी करें राज्य: सीतारमण[]
  2. खामियों को दूर करने के लिए सरकार PMFBY में कर रही बड़े बदलाव[]
  3. किसानों को मिले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ[]
End of Reference.

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here