Heritage City Development and Augmentation Yojana
Heritage City Development and Augmentation Yojana
Advertisement

हृदय योजना है क्या ? इसके नाम पर न जाए क्योंकि जैसा की इसका नाम है हृदय लेकिन ये हृदय या स्वास्थ्य से संबंधित नहीं है। असल में हृदय योजना देश के उन शहरों के जीर्णोद्धार के लिए है, जो राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय विरासत स्थल है।

इसका पूरा नाम है Heritage City Devolepment and Augmentation Yojana (HRIDAY) हृदय। यह योजना शहरी विकास मंत्रालय के अधीन है। देश के सांस्कृतिक विरासत स्थलों के जीर्णोद्धार और विकास के लिए इस योजना की शुरुआत 21 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री जी द्वारा हुई थी। इस योजना में 12 शहरों का चयन किया गया है।

Advertisement

चयनित शहर

इस योजना की सूची में 12 शहरों का चयन किया गया है जिनके नाम नीचे है

वाराणसीअमृतसरवारंगल
अजमेरगयामथुरा
कांचीपुरमवेललनकिनीअमरावती
बादामीद्वारकापूरी

योजना का बजट

हृदय योजना केंद्र सरकार की योजना है, इसी

लिए इसका सारा बजट केंद्र सरकार प्रदान करेगी। इस योजना के लिए सरकार ने 500 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है। इस योजना में हर शहर को उसका अपना अलग बजट प्रदान किया गया है | हर शहर को उसकी जनसंख्या और आकार के हिसाब से बजट प्रदान किया गया है। शहरों को दी गई राशि निम्न प्रकार है।

शहरराशि (करोड़ रुपए)
अजमेर40.04
अमरावती22.26
अमृतसर69.31
बादामी22.26
द्वारका22.26
गया40.04
कांचीपुरम23.04
मथुरा40.04
पूरी22.54
वाराणसी89.31
वेललंकिनी22.26
वारंगल40.54

इसे भी पढे : – शयामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशक्या है

हृदय योजना की महत्वपूर्ण बातें

  • हृदय योजना में देश के विरासत स्थलों को संरक्षित करने के साथ साथ उनके संपूर्ण पारसतिथिक तंत्र को दुरुस्त करने की योजना है।
  • इसमे 12 ऐसे शहरों को चुना गया है जो विरासत स्थल है।
  • इसका बजट 500 करोड़ रुपए है जो केंद्र सरकार के ज़िम्मे है।
  • इस योजना में जिन शहरों का चयन किया गया है उन्हे केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय, केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने मिलकर चुना है।
  • एटीहासिक इमारतों में जल प्रबंधन, साफ सफाई, बिजली सप्लाई, पर्यटन सुविधा केंद्र जैसी सुविधाओं को दुरुस्त करने के लिए ये योजना शुरू हुई।
  • यह योजना विदेशी पर्यटकों में भारत के प्रति आकर्षण पैदा करेगी।

इसे भी पढे : – दीनदयाल उपाधध्याय ग्राम ज्योति योजना क्या है

हृदय योजना के लाभ

  • जिन पर्यटक स्थलों का चुनाव इस योजना में हुआ है वो सब काफी प्रसिद्ध है लेकिन उन्मे पर्यटकों के लिए सुविधाओ का आभाव है इस योजना के बाद इन शहरों में पर्यटन सुविधाओ में सुधार होगा।
  • जिन शहरों का इस योजना का में चुनाव हुआ है वहाँ के निवासियों के लिए उनके शहर का विकास और वहाँ की विरासत का संरक्षण तो होगा ही साथ ही उनके लिए रोजगार के नए अवसर भी होंगे।
  • इस योजना से पर्यटन सुविधाओ में सुधार होगा तो पर्यटन के क्षेत्र में वृद्धि होगी जो अर्थव्यवस्था के लिए फायदेमंद होगा।
  • इस योजना को आप अर्थव्यववस्था में निवेश के तौर पर भी समझ सकते है जो बाद में पर्यटन के क्षेत्र में वृद्धि के रूप में देश को प्राप्त होगा।

इसे भी पढे : – ग्राम उदय से भारत उदय क्या है |

निष्कर्ष

हृदय योजना देश के विरासत स्थलों को न सिर्फ संरक्षित करेगी बल्कि देश की संस्कृति को सँजो कर भी रखने में भी मदद करेगी, साथ ही पर्यटन में तरक्की होगी जिससे देश की अर्थव्यवस्था में भी वृद्धि होगी, तो आज हमने आपको हृदय योजना के बारे में बताया। Heritage City Development and Augmentation Yojana यदि आपको यह लेख अच्छा लगा तो आप इसे मित्रों और करीबी लोगों के साथ साझा करे। और यदि आपके कुछ सुझाव है तो अवश्य ही हमें हमारे कमेन्टबॉक्स में कमेन्ट करें।

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

संवदाता लाता है आपके लिए वो सारी खबरे जो प्रमुख मीडिया मे नहीं दिखती है | संवदाता आपको केंद्र और राज्य सरकारों प्राधिकरण / बोर्ड / अधिकारियों द्वारा शुरू की गई विभिन्न योजनाओं के बारे में नवीनतम जानकारी दे रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here