दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना
दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना
Advertisement

भारत सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नवयुवको को रोज़गार देने के लिए दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना ( Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana ) की शुरुआत की है | ताकि गांव में रहने वाले लोगो को भी आसानी से रोज़गार मिल सके | इस लेख में हम आपको इसी योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले है ताकि गांव में रहने वाले ज्यादातर लोगो को इसका लाभ मिल सके |

अगर आपको अभी तक इस योजना के बारे में जानकरी नहीं है तो इस लेख को अंत तक पढ़े इस लेख में हम आपको बताने वाले है कि दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना क्या है ? दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना का लाभ कैसे ले ? दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना का रजिस्ट्रेशन कैसे करे ? इत्यादि |

Advertisement

दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना

योजना का नाम दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना
योजना विभाग ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार
आरंभ तिथि 25 सितंबर सन 2014
किसके द्वारा लॉन्च की गई केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी एवं वेंकैया नायडू
योजना का उद्देश्यग्रामीण बेरोजगार युवाओं को रोजगारउपलब्ध कराना
आधिकारिक वेबसाइटयंहा पर क्लिक करे |

Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana

केंद्र सरकार ने दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना की शुरुआत देश में बढ़ती हुई बेरोज़गारी की दर को देखते हुए की है ताकि इस योजना की सहायता से ज्यादा ज्यादा लोगो तक रोज़गार पहुंच सके और देश को बेरोज़गारी से मुक्त किया जा सके |

इसी को लेकर केंद्र सरकार देश में ज्यादा से ज्यादा कौशल प्रशिक्षण सेंटर खोल रही है, ताकि युवाओं को ट्रेनिंग के माध्यम से प्रशिक्षित किया जा सके जिससे उन्हें आसानी से रोज़गार मिल सके, और देश की तरक्की में अपना योगदान दे सके |
वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 15 वर्ष की आयु से लेकर 35 वर्ष तक की आयु के बीच 5. 5 करोड़ संभावित कामगार थे लेकिन अब वर्ष 2020 के आंकड़ों के अनुसार विश्व में लगभग
6 करोड़ रोज़गार में कमी देखी गई है |

दीनदयाल उपाध्याय कौशल्या योजना के कुछ प्रमुख लाभ

  • इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले बेरोजगार युवाओं को अलग अलग क्षेत्र से जुड़े कौशल सिखाये जाएँगे ताकि उन्हें आसानी से रोज़गार उपलब्ध कराया जा सके |
  • दीन दयाल उपाध्याय कौशल्या योजना के तहत होने वाली ट्रेनिंग का प्रमाण पत्र पूरे देश में मान्य होगा ताकि आप अपनी सुविधानुसार देश में कही पर भी जॉब प्राप्त कर सके |
  • दीन दयाल उपाध्याय कौशल्या योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा पहुंचाने के लिए देश के अलग अलग हिस्सों में ज्यादा से ज्यादा से ट्रेनिंग सेंटर खोले जाएँगे |
  • इस योजना के तहत अलग अलग क्षेत्रों से जुड़े लगभग 200 से ज्यादा कौशल शामिल है ताकि कोई भी विधार्थी अपनी रूचि के अनुसार ट्रेनिंग लेकर प्रशिक्षित हो सके |
  • जब ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगो को गांव में रहकर ही आसानी से रोज़गार मिल जाएगा तो इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रहने लोगो रोज़गार की तलाश में गांव से पलायन नहीं करना पड़ेगा |
  • क्योंकि आज का समय डिजिटल का है इसलिए इस योजना के तहत युवाओं को कंप्यूटर ट्रेनिंग, इंग्लिश स्पीकिंग , कम्युनिकेशन स्किल , बिज़नेस स्किल मार्केटिंग सोलर पैनल इत्यादि जैसी स्किल से प्रसिक्षित किया जाएगा

दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना के लिए जरूरी दस्तावेज़:

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको रजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य है जिसके लिए आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज़ होना आवश्यक है

  • विधार्थी का आधार कार्ड ( आधार कार्ड कैसे बनाए )
  • विधार्थी के पिता के आय प्रमाण पत्र
  • विधार्थी का जन्म प्रमाण पत्र
  • विधार्थी का वोटर आईडी
  • विधार्थी का निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • विधार्थी के वर्तमान में लिए गए 3 पासपोर्ट साइज फ़ोटो

इसे भी पढे : – बच्चों को फ्री कोचिंग देने के लिए सरकार ने शुरू की अभ्युदय योजना

दीन दयाल उपाध्याय योजना के लिए कुछ जरूरी बाते

  • इस योजना के तहत रोज़गार प्राप्त करने के लिए विधार्थी की आयु 15 से 35 वर्ष के बीच होना अनिवार्य है |
  • इस योजना के तहत सभी भारतीय महिलाएं योग्य अपनी योग्यता के अनुसार लाभ ले सकती है |
  • इस योजना में एससी और एसटी के युवाओं के लिए 50 % फंड आरक्षित किया गया है | दीन दयाल उपाध्याय योजना में अल्पसंख्यक युवाओं के लिए 15% आरक्षण आरक्षित किया है |
  • दीन दयाल उपाध्याय योजना में विकलांग युवाओं के लिए 3% आरक्षण आरक्षित किया है |
  • इस योजना के तहत ट्रेनिंग प्रोग्राम में कम से कम 33 % महिलाओ को शामिल किया जाएगा |
  • इस योजना में विकलांग , ट्रांसजेंडर और विशेष रूप से कमजोर लोगो को भी जोड़ा जाएगा ताकि उन्हें रोज़गार के लिए मुश्किलों का सामना न करना पड़े |
  • इस योजना के तहत होनी वाली ट्रेनिंग के लिए प्रत्येक युवाओं को ट्रेनिंग सेंटर पर टेबलेट या कंप्यूटर मुहैया कराया जाएगा

आप भारत सरकार की लोकप्रिय योजना Startup India ( स्टार्टअप योजना ) के बारे मे यहाँ पढ़ें ।

आवेदन कैसे करे

यदि कोई भी विधार्थी दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना का लाभ लेना चाहते है तो आप नीचे दिए गए कुछ स्टेप फॉलो करके आवेदन कर सकते है |

  • इस योजना के लाभ लेने के लिए आपको सर्वप्रथम योजना की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • इसके लिए आपको सर्वप्रथम दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यंहा ओर आपके सामने वेबसाइट का एक होमपेज ओपन होगा
  • होम पेज पर आपको न्यू रजिस्ट्रेशन इस लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • यंहा पर आपको अपनी सभी जरूरी जानकारी भरनी पड़ती है | जैसे कि नाम , शिक्षा , पता , मोबाइल नंबर पासपोर्ट साइज फोटो इत्यादि।

निष्कर्ष

इन सभी जानकारी को भरने के बाद आपको सब्मिट कर देना है। अपने नज़दीकी सेंटर की जानकारी आपको कुछ दिनों के बाद मोबाइल पर एस एम एस के माध्यम से मिल जाएगी।

इसे भी पढे :- पढ़ना लिखना अभियान क्या है |

दोस्तों इस लेख में हमने आपको केंद्र सरकार ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओ के लिए शुरू की गई योजना के बारे में बताया है ताकि ज्यादा से ज्यादा युवा इस योजना का लाभ उठा सके इस लेख में हमने आपको बताया है कि दीनदयाल उपाध्याय कौशल्य ग्रामीण योजना क्या है Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana Kya Hai और ग्रामीण क्षेत्र के युवा इस योजना का लाभ किस प्रकार उठा सकते है अगर आपको जानकारी अच्छी लगी है तो आप अपनी राय हमे कमेटं में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि वे भी इसका लाभ उठा सके

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here