Advertisement

हमारे देश मे सबसे ज्यादा लोग माध्यम वर्ग और गरीब वर्ग के रहते है। देश मे शिक्षा का स्तर महंगा होता है। जिसके कारण पढ़ाई मे रुचि रखने वाले युवाओ की पढ़ाई बीच मे ही छूट रही है। अगर ऐसा ही चलता रहा तो ऐसे मे आने वाले समय मे देश के अंदर शिक्षा का स्तर गिरता ही चला जायेगा।

केंद्र सरकार ने इस पर लगाम लगाने के लिए , जो बच्चे स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद आगे की पढ़ाई पूरी करना चाहते है लेकिन आर्थिक स्तिथि कमजोर होने के कारण उन्हे पढ़ाई करने मे परेशानी हो रही है ऐसी युवा विधारथियों के लिए केंद्र सरकर ने एक नई योजना की शुरुआत की है जिसके बारे मे हम आपको इस लेख मे जानकारी देने वाले है।

इस लेख मे हम आपको बताने वाले है कि पढ़ो परदेश योजना क्या है। विधार्थी इस योजना का लाभ किस प्रकार ले सकते है। देश मे पढ़ाई करने के लिए बैंकों ने लोन की सुविधा भी उपलब्ध की हुई है लेकिन उन लोन की ब्याज दर इतनी अधिक होती है कि ज्यादातर विधार्थी लॉन की ब्याज दर देखकर ही घबरा जाते है। और इस सुविधा का लाभ नहीं ले पाते है।

योजना का विवरण

योजना का नामपढ़ो परदेश योजना
लॉन्च किया गयावित्त वर्ष 2013-2014 को
लॉन्च कियाश्री मुख्तार अब्बास नकवी (केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री)
नेतृत्व मेंप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के
निगरानीअल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा
समाधान टोल-फ्री हेल्पलाइन1800-11-2001

पढ़ो परदेश योजना Padho Pardesh Yojana 2023

पढ़ो परदेश योजना कि शुरुआत वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरकर मे अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी के द्वारा की गई थी। ये योजना सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ़ माइनर अफेयर्स से कंट्रोल की जाती है।

पढ़ो परदेश योजना के तहत केंद्र सरकार ने पढ़ाई मे रुचि रखने वाले युवा विधारथियों को उच्च स्तर की पढ़ाई करने के लिए ऋण पर सब्सिडी देने की घोषणा की है। ताकि विधार्थी अच्छी शिक्षा के जरिए अपना बेहतर भविष्य बना सके। इस योजना के तहत दी जाने वाली स्कॉलरशिप पर छात्रों को 0% का ब्याज देने होगा।

पढ़ो परदेश योजना की विशेषताएं

  • पढ़ो परदेश योजना का मुख्य उदेश्य देश के तमाम अल्पसंख्यक और पिछड़े वर्ग के विधारथियों के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है ताकि वे अपनी पढ़ाई को पूरा कर सके।
  • इस स्कॉलरशिप योजना के तहत पढ़ाई करने के लिए सरकार छात्रों को ऋण सब्सिडी प्रदान करेगी।
  • बैंकों से एजुकेशन लोन लेकर पढ़ाई करने मे विधारथियों को बहुत महंगा पड़ता है। लेकिन इस योजना के तहत पढ़ाई करने के लिए मिलने वाली सब्सिडी पर छात्रों को किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं चुकाना होगा।
  • जब तक विधारथियों की पढ़ाई जारी रहेगी तब तक पढ़ो परदेश योजना योजना के तहत मिलने वाली स्कॉलरशिप राशि पर छूट रहेगी। उसके बाद आपको इस चुकाने के लिए समय
  • निर्धारित किया जायेगा । अन्यथा आपको ब्याज दर के हिसाब से रकम चुकनी होगी।
  • वर्तमान समय मे देश के कुछ शैक्षणिक संस्थानों मे ऐसे कोर्स भी मौजदू है। जिनकी आधी पढ़ाई देश की यूनिवर्सिटी मे और आधी पढ़ाई विदेश मे की जाती है। तो ऐसे मे विधारथियों को
  • जब तक विदेश के विश्वविद्यालय से डिग्री नहीं मिल जाती है, तब तक उसे ब्याज पर सब्सिडी प्राप्त होगी

इसे भी पढे :- सरकार अब देगी युवाओ को बिजनेस करने की ट्रेनिंग

योजना के लिए योग्यता (Eligibility Criteria)

  • इस योजना का लाभ देश के सभी अल्पसंख्यक और पिछड़े वर्ग मे आने वाले अलग अलग धर्मों के लोग ले सकते है जैसे कि इसाई, मुस्लिम, सिक्ख, जैन, बुद्धिस्ट और पारसी
  • इस योजना का लाभ विधारथियों को तभी मिल पायेगा जब वे किसी मान्यता प्राप्त संस्थान या यूनिवर्सिटी से शिक्षा प्राप्त कर रहे हो।
  • इस योजना के तहत केवल वही विधार्थी शिक्षा प्राप्त कर सकते हो जो स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते है।
  • इस योजना के तहत केवल वही विधार्थी स्कॉलरशिप प्राप्त कर सकते है। जिनके परिवार की मासिक आय 6 लाख रुपये या इससे कम है।
  • इस योजना के तहत विधार्थी देश विदेश मे कही पर भी शिक्षा प्राप्त कर सकते है।
  • इस योजना के लाभ केवल उन्ही विधारथियों को मिलेगा जो भारतीय नागरिक है।

इसे भी जरूर पढे :- आर्थिक तंगी से जूझ रहें छात्रों के लिए सरकार ने शुरू की विद्यासारथी स्कॉलरशिप

योजना के अंतर्गत ऋण के नियम

  • इस योजना के लाभार्थी छात्र पढ़ाई पूरी करने के लिए किसी भी भारतीय बैंक से 20 लाख रुपये तक का ऋण प्राप्त कर सकता है।
  • इस योजना के तहत ली गई स्कॉलरशिप राशि पर विधार्थी को पढ़ाई पूरी होने तक कोई भी एक्स्ट्रा ब्याज नहीं चुकाना होगा लेकिन पढ़ाई पूरी होने के बाद विधार्थी को नौकरी ढूँढने के लिए लगभग डेढ़ वर्ष का समय दिया जायेगा। उसके बाद आवेदक की स्कॉलरशिप राशि पर ब्याज शुरू हो जायेगा। फिर आवेदक को मूल राशि के साथ ब्याज भी चुकाना होगा।
  • कोर्स पूरा होने के बाद लाभार्थी छात्र इस राशि को अपनी सुविधा के अनुसार किस्तों मे भी चुका सकता है।
  • इस योजना के तहत मिलने वाली स्कॉलरशिप राशि विधार्थी के बैंक अकाउंट मे ट्रांसफर की जायेगी। उसके बाद विधार्थी इस राशि का इस्तेमाल नेट बैंकिंग , चेक , से भी राशि का इस्तेमाल कर सकता है।

स्कॉलरशिप लेने के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आवेदक विधार्थी का आधार कार्ड
  • आवेदक के परिवार मे मुखिया का आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक के शैक्षिक दस्तावेज
  • आवेदक का माइनोरिटी सर्टिफिकेट
  • आवेदक का यूनिवर्सिटी मे दाखिला होने का प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते की पासबुक

स्कॉलरशिप किस बैंक से ले

इस योजना के तहत स्कॉलरशिप लेने के लिए आप देश एक सरकारी , निजी , को ऑपरेटिव , पब्लिक सेक्टर के सभी बैंकों मे से किसी मे से भी स्कॉलरशिप का आवेदनक कर सकते है।

इसे भी जरूर पढे : प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए यंहा पर क्लिक करे

योजना के लिए आवेदन कैसे दें (How to apply for padho pardesh scheme in Hindi)

  • इस योजना के तहत स्कॉलरशिप प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आवेदक को अपने दाखिला संबंधी सभी दस्तावेजों को लेकर आईबीएम बैंकिंग कानून समिति के द्वारा मान्यता प्राप्त बैंक मे जाकर आवेदन करना होगा।
  • आवेदन करने के लिए बैंक से फार्म लेकर उसमे लाभार्थी आवेदक से जुड़ी सभी जानकारी फिल करने बाद जरूरी दस्तावजों को लगाकर उसे बैंक मे जमा कर दे।
  • आवेदन करने के बाद आपकी जानकारी ‘मिनिस्ट्री ऑफ़ वेलफेयर’ मे भेजी जायेगी वहा से अप्रूवल मिलने के बाद ही आपको लोन राशि मिल पाएगी।

स्कॉलरशिप नोटीफिकेशन

Padho Pardesh Yojana

ऑफिसियल वेबसाइट

Padho Pardesh Yojana

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here