एजुकेशन लोन कैसे ले
एजुकेशन लोन कैसे ले
Advertisement

देश में महँगाई की दर लगातार बढ़ती जा रही है। जिसके कारण इंसान को अपनी मुख्य ज़रूरतों को पूरा करने के लिए भी काफी संघर्ष करना पड़ रहा है। बच्चों की शिक्षा भी महंगी होती जा रही है। जिसकी वजह से बहुत से बच्चों की शिक्षा बीच में ही छूट जाती है और उनके पढाई पूरी न होने के अरमान अधूरे रह जाते है।

आज हम आपको इस लेख मे शिक्षा की इसी कमी को पूरा करने के बारे मे बताने वाले है, ताकि किसी भी विधार्थी की शिक्षा अधूरी न रहे अगर आप भी एजुकेशन लोन के बारे मे पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढे।

Advertisement

इस लेख मे हम आपको बताने वाले है कि एजुकेशन लोन क्या है , education loan kya hai और आप जरूरत पढ़ने पर एजुकेशन लोन कैसे ले सकते है education loan kaise le

Education Loan Kaise Le

बहुत से बच्चों की शिक्षा अधूरी रहने के कारण उन्हें कम उम्र में ही काम करना पड़ता है। कुछ जिद्दी बच्चे ऐसे भी होते जो काम करने के साथ अपनी पढाई भी पूरी करते है। इसी समस्या को खत्म करने के लिए सरकार ने बैंकों के माध्यम से उन बच्चों के लिए  एजुकेशन लोन की सुविधा शुरू की है जो अपनी पढाई पूरी करने के बाद अपने सपनों को साकार कर सके।

इस लोन के माध्यम से कोई भी विधार्थी अपनी इच्छानुसार कही पर भी अपनी पढाई पूरी कर सकता है, फिर चाहे वो अपनी पढाई देश के अंदर रहकर करे या विदेश में रहकर करे एजुकेशन लोन को देश के कुछ बैंक अपनी कुछ शर्तों को ध्यान में रखते हुए देते है।

बैंक आपको एजुकेशन लोन किन किन कामो के लिए देते है ?

  • स्कूल / कॉलेज  की फीस  चुकाने के लिए आप एजुकेशन लोन ले सकते है।
  • छात्रावास फीस जमा करने के लिए आप एजुकेशन लोन ले सकते है।
  • परीक्षा / पुस्तकालय / प्रयोगशाला शुल्क की फ़ीस जमा करने के लिए आप एजुकेशन लोन ले सकते है।
  • बच्चों के लिए पुस्तके /उपकरण।/यूनिफार्म लेने के लिए भी आप एजुकेशन लोन  की सहायता ले सकते है।
  • विधार्थी को अगर अपनी पढाई करने के लिए कंप्यूटर या लैपटॉप की आवश्यकता हो तो आप इसे एजुकेशन लोन की सहायता से ले सकते है।
  • विधार्थी को अगर अपना पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए  अध्ययन पर्यटन, प्रोजेक्ट वर्क, थीसिस,  जैसी आवश्यकता हो तो वे इसे एजुकेशन लोन की सहायता से पूरा कर सकते है।  
एजुकेशन लोन

Education Loan के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ?

  • किसी भी बैंक के माध्यम से एजुकेशन लोन लेने के लिए सर्वप्रथम आवेदक का भारतीय का नागरिक होना आवश्यक है।  
  • किसी भी विधार्थी को एजुकेशन लोन लेने के लिए देश के किसी अधिकार युक्त यूनिवर्सिटी में दाख़िला होना आवश्यक है।
  • एजुकेशन लोन लेने के लिए विधार्थी की हायर सेकंडरी की शिक्षा पूरी होनी चाहिए।
  • आरबीआई  के नियमों के अनुसार इस लोन को लेने के लिए किसी भी विधार्थी की कोई अधिकतम आयु सीमा नहीं है, परन्तु देश के कई बैंक ऐसे भी है जो अपने नियम और शर्तों में अधिकतम आयु की सीमा रखते है।
  • एजुकेशन लोन वाली योजना का लाभ केवल वही विधार्थी उठा सकते है जिनकी आयु  कम से कम 18 वर्ष हो |
  • एजुकेशन लोन लेने के लिए केवल वही विधार्थी आवेदन कर सकते है जिस पर या विधार्थी के माता – पिता पर किसी अन्य  बैंकों का ऋण बकाया न हो।
  • आप एजुकेशन लोन लेने के लिए  केवल अपने नज़दीकी बैंक शाखा में आवेदन कर सकते है।

इसे भी जरूर पढे : एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस क्या है इसका किस प्रकार फायदा उठाये

Education Loan के लिए कुछ जरूरी दस्तावेज़ 

किसी भी प्रकार का लोन लेने के लिए बैंक आपसे आपकी पहचान के तौर पर कुछ जरूरी दस्तावेज़ जमा करवाता है| ताकि वह आपके बारे में, आपके अड्रेस के बारे ,आपके बिज़नेस के बारे जानकरी प्राप्त कर सके जिसकी वजह से आपको आसानी से लोन मिल सके  इसी प्रकार एजुकेशन लोन लेने के लिए भी आपको कुछ जरूरी दस्तावेज़ों के आवश्यकता होती है।

  • विधार्थी का जन्म प्रमाण पत्र या कोई एज प्रूफ
  • विधार्थी के पासपोर्ट साइज फोटो
  • विधार्थी की हायर सेकंडरी की पासिंग मार्कशीट
  • विधार्थी या उसके परिवार में से किसी की भी बैंक पास-बुक 
  • विधार्थी और उसके माता पिता में से किसी एक का पहचान पत्र 
  • विधार्थी का एड्रेस प्रूफ
  • विधार्थी  के  कॉलेज एड्मिशन का कोई भी सर्टिफ़िकेट 
  • विद्यार्थी और उसके माता पिता के आधार कार्ड और पैन कार्ड 
  • विधार्थी के अभिभावक का  इनकम  प्रूफ

इसे भी जरूर पढे : म्यूचुअल फंड मे निवेश कैसे करे ?

एजुकेशन लोन संबंधी कुछ मुख्य बाते 

  • एजुकेशन लोन education loan के माध्यम से कोई भी विधार्थी  कॉलेज की मूलभूत फीस तथा पढाई- लिखाई और पढाई के दौरान खाने पीने और रहने का खर्च उठा सकते है।
  • किसी बैंक या वित्तीय  संस्थान से एजुकेशन लोन प्राप्त करने के  लिए सर्वप्रथम विद्यार्थी को आवेदन करना पड़ता है| विद्यार्थी ही मुख्य आवेदक होता है और अभिभावक उप आवेदक होते हैं।
  • एजुकेशन केवल  उन भारतीय विद्यार्थियों को मिल सकता है, जो भारत में रहकर अथवा विदेश जा कर अपनी पढाई पूरी करना चाहते हैं. इसके लिए संस्थानों द्वारा दी जाने वाली अधिकतम राशि संस्थानों पर निर्भर करती है।
  • इस एजुकेशन लोन के माध्यम से आप  विभिन्न पार्ट टाइम, फुल टाइम, कोचिंग ,वोकेशनल, ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, इंजीनियरिंग कोर्स, मैनेजमेंट, मेडिकल, होटल मैनेजमेंट जैसे कोर्स कर सकते है और अपने सपनों को अंजाम तक पंहुचा सकते है।

इसे भी जरूर पढे : होम क्रेडिट लोन क्या है इसका लाभ कैसे उठाए ?

एजुकेशन लोन Education Loan के प्रकार 

भारत की शिक्षा व्यवस्था के आधार पर  एजुकेशन लोन चार प्रकार के होते हैं।

  • अंडरग्रेजुएट एजुकेशन लोन : वे विद्यार्थी जिन्होंने अपनी हायर सेकेंड्री शिक्षा पूरी कर ली हो, अगर विधार्थी  ग्रेजुएशन की शिक्षा प्राप्त करना चाहता है तो वह इस लोन को लेने के लिए आवेदन कर सकता है।
  • ग्रैजुएट एजुकेशन लोन : अगर किसी विधार्थी ने ग्रेजुएशन की शिक्षा प्राप्त कर ली है तो वे विधार्थी  अपनी उच्च शिक्षा को पूरा  करने के  लिए एजुकेशन लोन ले सकते हैं।
  • करियर एजुकेशन लोन : अगर कोई भी विधार्थी टेक्निकल स्कूल अथवा संस्थानों में अपनी रूचि के आधार पर पढाई करना चाहते हैं, जैसी कि  डॉक्टरी, या इंजीनियरिंग.इत्यादि की पढाई तो अपनी शिक्षा को पूरा करने के लिए करियर एजुकेशन लोन प्राप्त कर सकते है ।
  • अभिभावकों के लिए लोन : वे माता-पिता अथवा सगे सम्बन्धी जो अपने किसी भी बच्चे को पढ़ाने में सक्षम नहीं हैं, यानि कि उनके पास पैसों का इतना बजट नहीं है कि वे बच्चों का पढाई लिखाई संबंधी खर्च उठा सके | ऐसी स्थिति में अगर वे अपने बच्चों को पढ़ना चाहते है तो वे इस लोन का फायदा उठा सकते है।

इसे भी जरूर पढे : डिजिलॉकर क्या है , फ्री मे इसका फायदा कैसे उठाए |

एजुकेशन लोन पर बैंकों की ब्याज दरें 

  • SBI State Bank of India –  में भारत में पढ़ने के लिए 8.85% और विदेश में पढ़ाई के लिए 10.00% ब्याज दर
  • Axis Bank Education Loan– भारत और विदेश में पढ़ाई के लिए के लिए 13.70% 
  • Bank of Baroda Education Loan– भारत में 8.40%, विदेश में 9.15%
  • Union Bank of India– भारत में 10.20%, विदेश में पढ़ाई के लिए भी 10.20%

एजुकेशन लोन देने वाले देश के बैंक 

देश में मौजूद सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंक एजुकेशन लोन  मुहैया करवाते हैं। 

इसे भी जरूर पढे : अब मजदूरों को रोजगार मिलन हुआ आसान मजदूरों को रोजगार देने के लिए सरकार ने शुरू कि मनेरगा योजना

एजुकेशन लोन के फायदे Education Loan Ke Fayde

  • आज के समय में अगर किसी विधार्थी के माता पिता गरीब है और वह शिक्षा प्राप्त करना चाहता है तो ऐसे में  विद्यार्थियों को अपनी शिक्षा का भार खुद उठाना पड़ता है जिसके वजह से वे काम उम्र में ही उनके ऊपर भार आ जाता है और वे अपनी पढाई बीच में भी छोड़ देते है तो ऐसी स्थिति में आप एजुकेशन लोन के माध्यम से अपनी शिक्षा पूरी कर सकते है और जब पढाई पूरी करने के बाद नौकरी मिल जाती है तो उसके बाद आपको लोन का पैसा चुकाना पड़ता है  जिसके कारण अब  पढाई बोझ की तरह नहीं लगती है।

इसे भी पढे : – बच्चों को फ्री कोचिंग देने के लिए सरकार ने शुरू की अभ्युदय योजना

  • एजुकेशन लोन education loan देश के सभी वर्ग के लोगों के लिए मुहैया होता है| आम तौर पर एजुकेशन लोन की शुरुआत देश के अंदर शिक्षा बढाने  के लिए गई थी ,ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चे  अच्छी शिक्षा प्राप्त करकें अपने सपनों को अंजाम तक पंहुचा सके।
  • विद्यार्थियों के माता पिता के लिए ये लोन टैक्स मुक्त भी होता है | एजुकेशन लोन लेकर शिक्षा प्राप्त करने से  पढाई- लिखाई के दौरान सभी टैक्स माफ़ हो जाते हैं| जिसकी वजह से आपके घर का बहुत सा धन बच जाता है | अतः एजुकेशन लोन टैक्स बचाते हुए पढाई करने का एक अच्छा माध्यम है।
  • कई पब्लिक बैंक के माध्यम से एजुकेशन लोन पर सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है| इसके अलावा  सरकार की टैक्स की दरें भी कम की जाती है. कई बार सरकार दूसरे देशों में अपने विद्यार्थियों की शिक्षा में उन्नति के लिए विभिन्न तरह की छूट भी प्रदान करती है।

इसे भी पढे : – प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना क्या है ?

  • एजुकेशन लोन education loan में दूसरे लोन की अपेक्षा भुगतान करने का तरीका भी बेहद आसान है| विद्यार्थियों को पढाई पूरी होने तक किसी को भी भुगतान करने की कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है| एक बार नौकरी मिल जाने के बाद विधार्थी खुद ही धीरे धीरे उस लोन की चुका सकता है।
  • एजुकेशन लोन लेकर पढने वाले लोगों को एक समय के बाद लोन चुकाने की चिंता होती है| जिसके कारण वे जल्द से जल्द एक नौकरी पाने और लोन चुकाने की कोशिश में लगे रहते हैं. इस कोशिश से उन्हें जल्द नौकरी मिल जाती है और वे अपने जीवन में जल्द ही जिम्मेदार भी बन जाते हैं| 
  • एजुकेशन लोन लेकर पढने वाले विद्यार्थियों के माता पिता की चिंताएँ भी बहुत कम हो जाती हैं, क्योंकि उन्हें  बच्चों की पढाई  के लिए बार बार आर्थिक खर्च नहीं उठना पड़ता है, क्योंकि इन दिनों प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में शिक्षा का शुल्क बहुत महँगा हो गया है| अतः उस फीस को चुकाने के लिए एजुकेशन लोन बहुत अच्छा साधन है।  
  • एजुकेशन लोन लेकर शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थी को पता होता है कि शिक्षा में उनकी भूमिका सबसे अहम है. क्योंकि ऐसे समय में  वे एक नए जोश और जुनून के साथ पढाई लिखाई करते है| वे खुद को स्वतंत्र महसूस करते हैं।

इसे भी जरूर पढे : प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का फायदा कैसे उठाए

निष्कर्ष

दोस्तों इस लेख मे हमने आपको एजुकेशन लोन के बारे सम्पूर्ण जानकारी दी है ताकि देश के ज्यादा से ज्यादा छात्र इसका फायदा उठा सके और अपनी अधूरी पढ़ाई को पूरा कर सके।

इस लेख मे हमने आपको बताया है कि एजुकेशन लोन क्या है , education loan kya hai और आप जरूरत पढ़ने पर एजुकेशन लोन कैसे ले सकते है education loan kaise le अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट मे जरूर बताए अगर आपका एजुकेशन लोन को लेकर किसी प्रकार सवाल है तो अप कमेन्ट मे जरूर पूछ सकते है और इस जानकारी को दूसरे छात्रों के साथ भी जरूर शेयर करे ताकि देश के ज्यादा से ज्यादा छात्र इसका लाभ उठा सके। धन्यवाद

Join our Subscriber lists to get the latest news,updates and special offers delivered directly in your inbox

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here